AIMWPLB ने पीएम को सौंपा मॉडल निकाहनामा, अंबर बोलीं- अब नहीं मिलेगा मुस्लिम औरतों को धोखा

AIMWPLB ने पीएम को सौंपा मॉडल निकाहनामा, अंबर बोलीं- अब नहीं मिलेगा मुस्लिम औरतों को धोखा

By: Aryan Paul
August 12, 13:08
0
New Delhi:

ऑल इंडिया मुस्लिम वीमेन पर्सनल लॉ बोर्ड ने पीएम मोदी को एक मॉडल निकाहनामा दिया है और इसे जल्द लागू करवाने की मांग भी की है । AIMWPLB ने पीएम मोदी से निकाहनामा को आधार कार्ड से लिंक करवाने की भी मांग की है 

आपको बता दें कि मई महीने में ट्रिपल तलाक को लेकर सुप्रीम कोर्ट में कई दिनों तक सुनवाई चली थी, सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के दौरान ट्रिपल तलाक पर एक मॉडल निकानामा बनाने को कहा गया था । तब अखिल भारतीय मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने कहा था कि वह इसके विकल्प पर विचार करेंगी । हाल ही में मुस्लिम महिला आंदोलन की प्रमुख जाकिया सोमन ने चीफ जस्टिस जे.एस. खेहर को लेटर लिखकर कहा था कि कोर्ट महिलाओं के पक्ष में जल्द ही कोई फैसला दे । AIMWPLB की चेयरमैन शाइस्ता अंबर ने कहा- कि उन्होंने पीएम मोदी से मॉडल निकाहनामा को कानूनी मान्यता दिलवाने और जल्द ही लागू करवाने की भी मांग की है । 

शाइस्ता अंबर ने कहा- दरअसल मुस्लिम महिलाएं लंबे समय से निकाहनामा बदलने की मांग कर रही थी, हालांकि निकाहनामा का मॉडल पहले ही बन चुका था, लेकिन पिछली कांग्रेस सरकार इसे लागू  करवा पाने में नाकाम साबित हुई थी । लेकिन उन्होंने पीएम मोदी से इसे अमली जामा पहनाने की मांग की । साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि निकाहनामा को आधार से लिंक किया जाएगा और इसमें बीवी-शौहर दोनों का आधार रजिस्टर्ड होने से महिलाएं धोखे से बच सकेंगी । अंबर ने बताया कि मॉडल निकाहनामा कई भाषाओं में बनाया गया है, ताकि देशभर में कहीं किसी को कोई भी दिक्कत ना हो ।

शाइस्ता अंबर ने बताया कि मुस्लिम महिलाओं के लिए बने कानून 1986 के तहत तलाक मिलने के बाद अगर महिला के परिवार वाले और रिश्तेदार महिला को गुजारा भत्ता दे पाने में असमर्थ हैं, तो  वक्फ बोर्ड को एप्लीकेशन देकर गुजारा भत्ता देने के लिए तलाकशुदा महिलाएं दावा कर सकती है । क्योंकि यह महिलाओं का अधिकार है । और उन्होंने इसके लिए भी अपील की है ।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।