लड़की ने फेसबुक की मदद से कोर्ट में किया साबित, गैर कानूनी ढंग से हुई थी शादी

लड़की ने फेसबुक की मदद से कोर्ट में किया साबित, गैर कानूनी ढंग से हुई थी शादी

By: Shalu Sneha
October 13, 16:10
0
....

New Delhi: राजस्थान की एक महिला ने अपनी जिंदगी के लिए एक बड़ा कदम उठाया है। उसने कोर्ट में ये साबित कर दिया है कि जब उसकी शादि की गई थी तब वो नाबालिग थी, जो कि एक दंडनीय अपराध है। युवती ने अपने पति के फेसबुक प्रोफाइल से सबूत जमा करके कोर्ट में ये बात साबित कर दी है। एक बाल अधिकार कार्यकर्ता ने गुरुवार को कोर्ट में ये कहा है। 

बता दें कि 19 साल की सुशीला बिश्नोई ने राजस्थान के एक अदालत से अपील की थी कि नाबालिग शादी जो कि अवैध है पर कई ग्रामिण जगह पर परंपरा है पर फैसला ले। लेकिन युवती के पति ने इस बात से इंकार कर दिया और साथ ही युवती को धमकी भी दी थी। लेकिन सुशीला का साथ एक कार्यकर्ता ने दिया जिसने सुशीला के पति के फेसबुक से शादी के सारे सबुत निकाले जिससे साबित होता है कि सुशीला की शादि उस वक्त हुई थी जब सुशीला नाबालिग थी। साथ ही कृति भारती जिन्होनें राजस्थान में कई बाल विवाह को रोका है का कहना है कि सुशीला के फेसबुक पर उसके कई दोस्तों ने उसे शादी करने पर बधाई दी है। सोमवार कृति ने बताया कि कोर्ट ने उनके सबूत को स्वीकार कर लिया है और इस शादी को अवैध बताया है।

 सुशीला ने बताया कि राजस्थान में शादी के बाद लड़कीयां 18 साल तक अपने माता-पिता के साथ रहती हैं। सुशीला के घरवालें लगातार उस पर ससुराल जाने का जोर दे रहे थें। लेकिन सुशीला ने अपनी जिंदगी चुनी और अपने घर से भाग गई जहां वो कृति से मिली जिन्होनें उसकी मदद की। बता दें कि कुछ दिन पहले सुप्रीम कोर्ट ने नया फैसला सुनाया था कि नाबालिग लड़की के साथ संबध बनाना रेप के समान है भले ही लड़की शादीशुदा हो।  

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।