मिलिये पीएम मोदी की रोल मॉडल से – सबसे उम्रदराज एथलीट, 104 साल की उम्र में तोड़े कई रिकार्ड

New Delhi : 50 की उम्र तक आते आते कई लोग अपने आप को रिटायर मान लेते हैं और 70 या 80 तक आते तो शरीर के कई अंग भी काम करना बंद कर देते हैं। वहीं मान कौर 104 साल की उम्र में न सिर्फ नॉट आउट बनी हुई हैं बल्कि जिंदगी की पिच पर अंतिम सांस तक डटे रहने की प्रेरणा भी दे रही हैं। जहां 60-70 की उम्र में ही लोग बेड के सहारे हो लेते हैं वहीं मान कौर 104 साल की उम्र में भाग दौड़ करती हैं। वो दुनिया की सबसे उम्रदराज एथलीट में शामिल हैं, अपने साहस से वो इस उम्र में कई रिकॉर्ड बना और तोड़ चुकी हैं। वो विश्व भर में कई गोल्ड मेडल जीत चुकी हैं।

पिछले साल जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फिट इंडिया मुवमेंट की शुरूआत की तो वो प्रमुख चेहरे के रूप में सबके सामने आईं। उनसे आशीर्वाद लेते हुए मोदी ने कहा था कि उन्हें उनसे प्रेरणा मिलती है। कहते हैं मन अगर जवान और तरो-ताजा बना रहे तो शरीर का बुढ़ापा कोई मायने नहीं रखता। मन के हारे हारे है मन के जीते जीते। ऐसा ही मानना है पंजाब की 104 साल की एथलीट मान कौर का। पिछले साल जब फिट इंडिया मुवमेंट की शुरूआत की गई तो देश भर से 25 उम्र दराज लोगों को बुलाया गया था जिसमें मान कौर भी शामिल थीं।

तब मीडिया से मुखातिब होते हुये उन्होंने कहा था -बंदे विच जीतन दा जज्बा होना चाहिदा है, उम्र पावे कोई भी हो, कोई फर्क नहीं पैंदा गल शुरुआत करन की है। आपको जानकर हैरानी होगी की मान शुरू से एथलीट नहीं थीं उन्होंने उस उम्र में दौड़ना शुरू किया जब लोग बिस्तर पकड़ लेते हैं। जब उन्होंने दौड़ना शूरू किया तब उनकी उम्र 60, 70 या 80 साल की नहीं थी वो 93 साल की थीं। मान कौर अपने बेटे को ही अपना गुरू मानती हैं। उनके बेटे का नाम गुरुदास है। मान बताती हैं कि उनके बेटे ने ही उन्हें 93 साल की उम्र दौ़ड़ने के लिए प्रेरित किया।

यह कितना अलग अहसास है कि एक मां ने जिस बेटे को चलना सिखाया उसी बेटे ने मां को पूरे विश्व में पहचान दिलाई। मान कौर प्रतियोगिताओं के लिए कई देशों में गईं। वो जहां भी जाती हैं उनका बेटा उनके बेटे गुरुदास उनके साथ ही रहते हैं। वो उनके लिए खाना बनाते हैं और उनकी प्रेक्टिस कराते हैं। साल 2011 पहली बार मान ने बतौर एथलीट वर्ल्ड मास्टर एथलेटिक्स में हिस्सा लिया, जहां सैकरामेंटो में दो गोल्ड जीते और रिकॉर्ड बनाया। इसके बाद 2012 एशियन मास्टर्स एथलेटिक्स चैंपियनशिप ताइवान में 100 मीटर इवेंट में गोल्ड जीता।

इसके बाद एक बड़ी उपल्ब्धि के रूप में उन्होंने 2013 में वर्ल्ड सीनियर गेम्स में हिस्सा लिया और पांच गोल्ड मेडल हासिल किए, जेवेलिन थ्रो और शॉटपुट में उन्होंने वर्ल्ड रिकॉर्ड भी बनाया। 2016 में अमेरिका में उन्होंने पांच गोल्ड मेडल जीते। साल 2019 में मान कौर ने वर्ल्ड मास्टर एथलेटिक्स में भारत की ओर से प्रतिनिधित्व किया और चार गोल्ड मेडल हासिल किए। वो इवेंट की सबसे उम्रदराज एथलीट भी रहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

82 − seventy nine =