माधवन-विवेक ओबराय सोनू सूद से बोले- लोगों की मदद के लिये इतना हौसला कहां से लाते हो, सलाम

New Delhi : दानवीर बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद प्रवासी मजदूरों के लिये मसीहा बन गये हैं। नेता हो या अभिनेता, या आम लोग सभी उन्हें मसीहा मान लिया है। सब तारीफों के पुल बांध रहे हैं। कल महाराष्ट्र के गवर्नर भगत सिंह कोशयारी ने उनकी तारीफ की और आज पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह ने अपनी दीवानगी जाहिर की। उन्होंने कहा कि उनके दोस्त एक्टर सोनू सूद ने पंजाब का नाम रोशन कर दिया है। तनु वेड्स मनु फेम बॉलीवुड एक्टर आर माधवने ने कहा सोनू तेरे जैसा कोई नहीं तो विवेक ओबराय भी सोनू की तारीफ करते नहीं थक रहे।

बॉलीवुड एक्टर आर माधवन ने ट्वीट किया है – क्या शानदार काम कर रहे हो भाई। मुझे तुम पर गर्व महसूस हो रहा है। इसके जवाब में सोनू सूद ने लिखा – मैडी, मेरे भाई, धन्यवाद। आर माधवन से पहले उन्हें हिंदी फिल्मों के जानेमाने एक्टर विवेक ओबराय ने भी प्रोत्साहित किया। विवेक ने ट्वीट किया – भाई मुझे तुम पर बहुत गर्व है। इस नेककाम के लिये जो तुम अथक प्रयास कर रहे हो और हजारों जरूरतमंदों की मदद के लिये आगे आ रहे हो, मैं तुम्हे सलाम करता हूं। इसी तरह को सबको प्रोत्साहित करते रहें। विवेक ओबराय के इस ट्वीट पर सोनू सूद ने धन्यवाद देते हुये लिखा- भाई आपके शब्द हमेशा से प्रेरणादायी रहे हैं। ढेर सारा प्यार।

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा – मैं गर्व महसूस करता हूं जब पढ़ता हूं कि मेरे पंजाबी साथी इस संकट की घड़ी में लोगों की खूब मदद कर रहे हैं। इस मौजूदा समय में हमारा मोगा का लड़का सोनू सूद बड़ी तत्परता से प्रवासी मजदूरों के खाने पीने और परिवहन की व्यवस्था में लगा हुआ है। गुड वर्क सोनू!

 

सोनू सूद ने कैप्टन अमरिंदर सिंह के ट्वीट का जवाब देते हुये लिखा- सर आपके इन शब्दों के लिए शुक्रिया। आप मेरे लिए प्रेरणास्रोत रहे हैं। मैं आपसे वादा करता हूं कि अपने पंजाबी साथियों का गर्व बनाये रखूंगा। इससे पहले केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, महाराष्ट्र के राज्यपाल, बॉलीवुड के सिंघम अजय देवगन, बैडमिंटन स्टार पीवी संधू उनकी तारीफ कर चुके हैं और कहा है कि वे समाज को बेहतर कार्यों के लिये प्रेरित कर रहे हैं।

अब तक सोनू सूद ने 12 हजार से ज्यादा मजदूरों को उनके घर पहुंचा दिया है। सोनू सूद ने कहा कि एक समय में मैं भी प्रवासी था। इसलिए मैं इनका दर्द और संघर्ष को अच्छी तरह समझता हूं। एक इंटरव्यू के दौरान उन्होंने कहा- मैं प्रवासी मजदूरों की मदद इसलिए कर रहा हूं कि क्योंकि मैं भी कभी प्रवासी था, जो अपनी आंखों ढेर सारे सपने लेकर मुंबई आया था। मुझे तस्वीरों से पता चला कि वे कितनी परेशानी से गुजर रहे हैं। वे बिना खाना और पानी के हजारों किलोमीटर सड़कों पर पैदल चले जा रहा है तो मुझे अपने शुरुआती दिनों की याद आ गई। मैं पहली बार मुंबई बिना आरक्षित टिकट के ट्रेन से आया था। मैं ट्रेन के दरवाजे पर खड़े होकर और वॉशरूम बगल में सोकर मुंबई पहुंचा था। मुझे पता है कि संघर्ष क्या चीज होती है।

 

सोनू सूद और उनकी टीम ने बसों के माध्यम से हजारों मजदूरों को मुंबई से कर्नाटक राजस्थान, झारखंड, उड़ीसा, उत्तर प्रदेश और बिहार तक भेजा है और यह काम अभी भी जारी है। उनकी पत्नी सोनाली, बेटे एहसान और अयान भी उनके इस काम में मदद कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमने अभी हेल्पलाइन जारी किया है, जिसके माध्यम से लोग हमें संपर्क कर रहे हैं। जब कॉल आती है तो मेरी पत्नी नोट करती हैं और मेरे बेटे लिस्ट तैयार करते हैं कि किस बस में कौन जाएगा। इसके साथ ही सोनू सूद बस ट्रैवल के पेपरवर्क और मेडिकल टेस्ट रिपोर्ट्स भी देख रहे हैं।
ओडिशा के मशहूर सैंड आर्टिस्ट ने उनको अपनी ओर एक सैंड स्कल्पचर भेंट की है। उन्होंने फोटो सोनू सूद को समर्पित करते हुये लिखा है- छपरा, प्रवासी मजदूरों का सलाम। सोनू सूद ने उन्हें धन्यवाद किया है।

One thought on “माधवन-विवेक ओबराय सोनू सूद से बोले- लोगों की मदद के लिये इतना हौसला कहां से लाते हो, सलाम

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

seventy five + = 76