CM with his family : file photo

15 अप्रैल को खत्म होगा लॉकडाउन – PM मोदी की मीटिंग के बाद CM पेमा खांडू का दावा, डिलीट किया ट्वीट

New Delhi : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस को रोकने के उपायों सहित इससे जुड़े मुद्दों पर गुरुवार को राज्यों के मुख्यमंत्रियों से चर्चा की और स्पष्ट किया कि पूरे देश का साझा लक्ष्य जीवन का न्यूनतम नुकसान सुनिश्चित करना है। उन्होंने मुख्यमंत्रियों से कहा कि अगले कुछ हफ्तों में सभी का ध्यान कोरोना वायरस से जुड़ी जांचों, संक्रमितों का पता लगाने, उन्हें अलग-थलग रखने पर केंद्रित रहना चाहिए। इस वीडियो कान्फ्रेसिंग मीटिंग के बाद अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने एक ट्वीट किया जिसको मानें तो 15 अप्रैल को लॉकडाउन खत्म हो जाएगा और सबकुछ नॉर्मल हो जाएगा। हालांकि कुछ ही देर बाद पेमा ने यह ट्वीट डिलीट कर दिया।
पीएम नरेंद्र मोदी के साथ बैठक का एक वीडियो ट्वीट करते हुए पेमा खांडू ने लिखा – लॉकडाउन 15 अप्रैल को पूरा हो जाएगा। हालांकि इसका मतलब यह नहीं होगा कि लोग सड़कों पर जाने के लिए स्वतंत्र होंगे। कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के लिए हर किसी को जिम्मेदारी लेनी होगी। सामाजिक दूरी ही इससे बचने का एक मात्र उपाय है।
इधर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लॉकडाउन के बीच कोरोना वायरस खतरे को लेकर राज्यों के मुख्यमंत्रियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये बातचीत की। प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्रियों से कहा कि covid-19 के मरीजों के लिए अलग, विशेष अस्पतालों की जरुरत है। इस बैठक में, पीएम मोदी के साथ गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह समेत अन्य प्रमुख लोग मौजूद रहे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्रियों से कहा कि अगले कुछ सप्ताह तक सारा ध्यान जांच करने, संक्रमित लोगों का पता लगाने, उन्हें घरों, पृथक केन्द्रों या अस्पतालों में पृथक रखने पर होना चाहिए।
उन्होंने कहा – लॉकडाउन समाप्त होने के बाद जनजीवन को धीरे-धीरे सामान्य बनाने के लिये साझी रणनीति तैयार करना महत्वपूर्ण है। प्रधानमंत्री ने राज्यों के मुख्यमंत्रियों से वीडियो कान्फ्रेसिंग में कहा कि लॉकडाउन (बंद) समाप्त होने के बाद आबादी के फिर से घर से बाहर निकलने को ध्यान में रखते हुए राज्यों और केंद्र को एक रणनीति तैयार करनी चाहिए।
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि यह वास्तव में सराहनीय है कि सभी राज्यों ने एक साथ और एक टीम के रूप में कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिये काम किया है।पीएम मोदी ने कोरोनावायरस को फैलने से रोकने के लिए पिछले हफ्ते मंगलवार को देशभर में लॉकडाउन की घोषणा करते हुए लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने का निर्देश दिया था। कोविड-19 के प्रकोप और इससे जुड़े मुद्दों के सामने आने के बीच पिछले दो सप्ताह से कम समय में प्रधानमंत्री के साथ मुख्यमंत्रियों की यह दूसरी बातचीत है। पहली ऐसी बातचीत 20 मार्च को हुई थी।
भारत में कोरोनावायरस का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है। गुरुवार सुबह तक इसके मरीजों की संख्या बढ़कर 1965 हो गई। जबकि इससे मरने वालों का आंकड़ा बढ़कर 50 पहुंच गया है। वहीं, इससे संक्रमित 151 लोगों का अभी तक उपचार किया जा चुका है। पिछले 24 घंटे में 328 नए मामले सामने आए हैं। वहीं, पिछले 24 घंटे में 12 लोगों की मौत हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fifty seven − fifty one =