लॉकडाउन ने सैकड़ों किमी के फासले खत्म किये : सिलीगुड़ी से कंचनजंघा, रुड़की से गंगोत्री दिखने लगीं

New Delhi : जलंधर और सहारपुर के बाद अब सिलीगुड़ी से कंचन जंघा साफ देखी जा रही है। यही नहीं रुड़की से भी हिमालय की बर्फीली पहाड़ियां दिखने लगी हैं। लॉकडाउन की वजह से वायुमडल इतना साफ हो गया है कि हिमालय की बर्फीली पहाड़ियां दिखने लगी हैं। लोगों को अपनी आंखों पर विश्वास नहीं हो रहा है। प्रदूषण का स्तर कम होने से दुनिया भर में प्रकृति के खूबसूरत नजारे सामने आने लगे हैं। भारत में पहले सहारनपुर से हिमालय की चोटियां दिख रही थीं। फिर सिलीगुड़ी से दुनिया की तीसरी सबसे ऊंची चोटी कंचनजंगा दिखाई पड़ी। अब रुड़की से हिमालय की गंगोत्री रेंज के पहाड़ दिखाई दे रहे हैं।

सिलीगुड़ी से पहली बार कंचन जंगा की चोटी दिखी।

रुड़की से गंगोत्री की दूरी कम से कम 312 किलोमीटर है। इसके बावजूद जब आसमान साफ हुआ और वायु प्रदूषण कम हुआ तो गंगोत्री के खूबसूरत पहाड़ों का दीदार हुआ। वायु प्रदूषण कम होने की वजह से रुड़की से हिमालय की बर्फीली चोटियां दिखने लगी. रुड़की से की धौलाधार रेंज नजर आने लगी है। इसे लेकर फोटो और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं।
कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए पूरे देश में लॉकडाउन जारी है। लोग घरों में बंद हैं और कल-कारखानों पर भी ताला लगा हुआ है। इससे प्रदूषण के स्तर में भी पूरी दुनिया में भारी कमी आई है जिसके सकारात्मक नतीजे अब प्रकृति में दिखाई देने लगे हैं।
इसके पहले जब सहारनपुर से धौलाधार रेंज के पहाड़ दिख रहे थे। तब आईएफएस अधिकारी प्रवीण कासवान ने ट्वीट में लिखा था कि ऐसा बहुत मुश्किल से देखने को मिलता है जब आपको सहारनपुर से बर्फीली चोटियां नजर आने लगे। सहारनपुर से हिमालय के इन चोटियों की दूरी 150-200 किलोमीटर है।
आमतौर पर सहारनपुर या रुड़की जैसे शहरों से हिमालय की चोटियां बारिश के बाद जब आसमान साफ होता है तभी दिखती हैं। लेकिन अब जब लॉकडाउन के कारण गाड़ियां नहीं चल रही हैं। फैक्ट्रियां बंद हैं तब वायु प्रदूषण नहीं हो रहा है। इसलिए सैकड़ों किलोमीटर दूर से भी हिमालय नजर आ रहा है।

रुड़की से साफ झलकती बर्फीली पहाड़ियां।

सहारनपुर के अलावा पश्चिम बंगाल के सिलीगुड़ी में लोगों को सिक्किम स्थित दुनिया की तीसरी सबसे ऊंची पर्वत चोटी साफ दिखाई दी है। यह दुनिया की तीसरी सबसे ऊंची पर्वत चोटी कंचनजंगा है। सिलीगुड़ी से कंचनजंगा की दूरी करीब 112 किलोमीटर है। आम दिनों में ये नजारा नहीं दिखता. लेकिन लॉकडाउन होने से प्रदूषण कम हुआ। जिसकी वजह से कंचनजंगा की चोटी दिखने लगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

− three = four