लॉकडाउन 2.0 : अगले एक हफ्ते और सख्ती होगी, 20 अप्रैल तक कोई छूट नहीं, कर्फ्य भी कड़ा होगा

New delhi : PM Narendra Modi ने कहा – भारत में 3 मई तक लॉकडाउन रहेगा। सभी को लोकडाउन में रहना होगा। सोशल डिस्टेन्सिंग और लॉकडाउन का बहुत फायदा हुआ है। इससे आर्थिक नुकसान हुआ है। लेकिन भारतीय नागरिक की जान की कीमत के आगे ये कुछ नहीं है। राज्य सरकारों ने अच्छा किया है, अच्छा कर रहे हैं। भारत में कोरोना के खिलाफ लडाई को आगे कैसे बढ़ाएं, नुकसान कम हो, जान बचे। हॉटस्पॉट को लेकर पहले से भी ज्यादा सतर्कता बरतनी होगी। आपके त्याग की वजह से कोरोना से होनेवाले नुकसान को काफी हद तक टाला है। कष्ट सहकर लोगों ने भारतवर्ष को बचाया है। अनुशासित सिपाही की तरह सब अपना फर्ज निभा रहे हैं। मैं भारत के सभी लोगों को नमन करता हूं। आज जो हमलोग कर रहे हैं वो बाबा भीमराव अंबेडकर को सच्ची श्रद्धांजलि है।

संविधान में WE THE PEOPLE का जो जिक्र है वो अभी दिख रहा है। लोग संयम के साथ घरों में रहकर त्यौहार मना रहे हैं। मैं नये वर्ष में सभी के बेहतर स्वास्थ्य की मंगलकामना करता हूं। जब हमारे देश में कोरोना का एक भी केस नहीं था तो हमने विदेशी लोगों का आईसोलेशन स्क्रीनिंग शुरू कर दी थी। विश्व के बड़े देशों की तुलना में भारत अच्छी स्थिति में हैं। अगर समय पर तेज फैसले नहीं लिये होते तो आज भारत की स्थिति क्या होगी ये सोचकर रोंगटे खड़े हो जाते हैं। 20 अप्रैल तक पूरी सख्ती के साथ सारे नियमों का पालन करना है। घर घर, कॉलोनियों, गांवों तक मॉनिटरिंग होगी। जितना सख्त से सख्त हो इस हफ्ते लॉकडाउन का पालन करना है। 20 अप्रैल तक अगर सबकुछ ठीक रहा तो उसके बाद शर्तों के साथ ढील दी जायेगी।  अगर ढील के बाद भी कोरोना केस आया तो सारी ढील वापस ले ली जायेगी। इसलिये 20 अप्रैल के बाद अगर ढील मिलती है तो उस दौरान भी लॉकडाउन और सोशल डिस्टेन्सिंग का सख्ती से पालन करें। बुजुर्गों की देखभाल करें। सोशल डिस्टेन्सिंग का ख्याल रखें। गर्म पानी, काढा आदि का सेवन कर इम्युनिटी बढांएं। आरोग्य सेतु एप को डाउनलोड करें। गरीब लोगों पर ध्यान दें। खाना खिलायें। बिजनेस, उद्योग से किसी को नौकरी से न निकालें। जो देश सेवा में लगे हैं उनका सम्मान करें। इन सात बातों में हमारी सफलता निश्चित है। हम सभी राष्ट्र को जीवंत और जागृत बनाये रखेंगे।
मध्यप्रदेश में इंदौर और उज्जैन को छोड़कर 15 अप्रैल से समर्थन मूल्य पर रबी की फसल की खरीदी शुरू हो जाएगी। सरकार को किसानों को मंडियों से बाहर व्यापारियों को समर्थन मूल्य पर अनाज बेचने की सुविधा देने जा रही है। सोशल डिस्टेंसिंग और अन्य सभी सुरक्षात्मक उपाय किए जाएंगे। सोमवार से सभी किराना की दुकान खोले जाने के निर्देश दिए हैं।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने लोगों से अपील की है कि वे आने वाले दिनों में भी घरों में रहें। राजस्थान में मॉडिफाई लॉकडाउन लागू किया जाएगा। इसके तहत चिकित्सा, कृषि और कपड़ा जैसे कुछ क्षेत्रों को शुरू करने की छूट दी जा सकती है, लेकिन शर्त के साथ। मोबाइल शॉप और होम डिलीवरी के रेस्टॉरेंट खोलने की भी योजना है। हालांकि, सिनेमा और स्कूल को अभी बंद ही रखा जाएगा। बिना मास्क के कोई भी व्यक्ति अपने घर से बाहर नहीं निकल पाएगा।
यूपी में 15 अप्रैल से कई सहूलियतें देने का फैसला कर लिया गया है। 11 सदस्यीय कोर कमेटी ने 15 अप्रैल से ऑनलाइन कारोबार और गेहूं की खरीद शुरू करने का निर्णय लिया। 23 अप्रैल से शुरू हो रहे रमजान पर भी सार्वजनिक आयोजन न करने की अपील की गई। मेडिकल इमरजेंसी, पेयजल, किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य, शिक्षा जैसे जरूरी सेवाओं के लिए कमेटियां बनेंगी। मंत्रियों को कार्यालयों में बैठना होगा। स्कूल नहीं खोले जाएंगे, ऑनलाइन शिक्षा व्यवस्था को व्यवस्थित होगी। यूपी के सभी जिलों में ऑनलाइन रजिस्ट्री चालू की जाएगी। रेस्टॉरेंट से ऑनलाइन होम डिलीवरी की सुविधा भी ली जा सकेगी।
महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने 30 अप्रैल तक कर्फ्यू बढ़ाने का निर्णय लिया है। महाराष्ट्र में कोरोनावायरस से हालात काफी बिगड़े हुए हैं। राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या 2006 तक पहुंच गई। देश की औद्योगिक राजधानी मुंबई राज्य में संक्रमण का एपिसेंटर बनी हुई है। यहां संक्रमितों का आंकड़ा 1400 है।
हरियाणा के गुरुग्राम, नूंह, पलवल और फरीदाबाद रेड जोन में शामिल हैं। इसके बाद ऑरेंज जोन होगा। इसमें वे जिले होंगे, जहां अभी कम मामले सामने आए हैं, लेकिन लोग क्वारैंटाइन किए गए हैं। इसके बाद तीसरी कैटेगरी आएगी, जहां अभी तक कोई मामला नहीं है, या बहुत कम हैं। एमएसएमई उद्योगों को कुछ शर्तों पर काम की अनुमति दी जाएगी यदि वे सोशल डिस्टेंसिंग बनाकर रखेंगे। ऐसे संस्थानों को अनुमति दी जाएगी, जो कर्मचारियों को रात में रुकने, खाने की सुविधा देंगे और उन्हें संस्थानों से बाहर नहीं आने देंगे।
नीतीश सरकार ने लॉकडाउन और सख्त करने की तैयारी कर ली है। लॉकडाउन के दौरान कार या बाइक से निकलने पर रोक होगी। परिवहन विभाग जल्द ही इसके लिए गाइडलाइन जारी करेगा। बिहार में स्कूल-कॉलेज और धर्म स्थल नहीं खुलेंगे। सरकारी कार्यालयों को भी पूरी तरह नहीं खोला जाएगा। स्वास्थ्य सेवाओं में विस्तार किया जाएगा।
झारखंड में भी 30 अप्रैल तक लॉकडाउन की समय सीमा बढ़ाई जा सकती है। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने वीडियो कॉल के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को विशेष आर्थिक मदद के साथ लॉकडाउन बढ़ाने का सुझाव दिया था। झारखंड सरकार लॉकडाउन बढ़ाने के साथ-साथ घरेलू उद्योगों को थोड़ी ढील दे सकती है, पर सोशल डिस्टेंसिंग और मजदूरों को कंपनियों में ही रखने की शर्त के साथ। शिक्षण संस्थानों को बंद ही रखा जाएगा।

छत्त्तीसगढ की कांग्रेस सरकार ने सोमवार से लोगों को राहत देने का ऐलान। उद्योग, प्राइवेट अस्पताल और नर्सिंग होम खुलेंगे। रियायतें केंद्र सरकार की गाइडलाइन के आधार पर दी जाएंगी। राज्य सरकार ने 10 या उससे कम मजदूरों वाले उद्योगों को शुरू करने के लिए सशर्त अनुमति दी है। निजी अस्पताल व नर्सिंग होम ओपीडी शुरू करेंगे। समाजसेवी संस्थाओं के राशन समेत अन्य जरूरी सामग्री बांटने पर राज्य सरकार ने रोक लगा दी है।
पंजाब सरकार लॉकडाउन से दो दिन पहले लगाए गए कर्फ्यू को 30 अप्रैल तक बढ़ा चुकी है। इस दौरान किसानों को छोड़कर किसी के लिए कोई रियायत नहीं है। ऐसा पहली बार है कि बैसाखी के दिन तक राज्य में पारंपरिक आयोजन और त्योहारी चहल-पहल नहीं है। जलियांवाला बाग और श्री आनंदपुर साहिब में भी सन्नाटा पसरा हुआ है। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक मंगलवार सुबह 8 बजे तक देश में 10 हजार 363 लोग संक्रमित हैं। इनमें से 8 हजार 988 का इलाज चल रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one + = 3