वास्तु टिप्स: कहीं घड़ी की गलत दिशा तो नहीं रोक रही आपकी सफलता का रास्ता

वास्तु टिप्स: कहीं घड़ी की गलत दिशा तो नहीं रोक रही आपकी सफलता का रास्ता

By: Shalu Sneha
November 13, 16:11
0
New Delhi: गुजरा हुआ वक्त कभी लौट कर नहीं आता है। ना ही हम बीते हुए समय को दोबारा इस्तमाल कर सकते हैं। इसलिए कहा जाता है कि हमेशा वक्त के साथ ही चलना चाहिए,अगर वक्त के साथ नहीं चले तो पीछे रह जाएंगे।

लेकिन सही वक्त के साथ चलने के लिए जरुरी है कि आपके घर में घड़ी सही दिशा में हो। वास्तु के अनुसार आपकी सफलता, स्वास्थ्य पर घर में लगी घड़ी की दिशा से बहुत असर पड़ता है। इसलिए घर में घड़ी लगाते वक्त इन बातों का ध्यान जरुर रखें।

बंद घड़ी से पड़ता है नकारात्मक प्रभाव

  • वास्तु के अनुसार घर में कभी बंद घड़ी न रखें, इससे घर में नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। हमेशा अपने घर में घड़ी को चालू रखें। यदि आपके घर मे बंद घड़ी है तो उसको तुरंत निकाल दें। वास्तु शास्त्र के अनुसार घड़ी को कभी भी दक्षिण की दिशा में नहीं लगाना चाहिए। दक्षिण, यम की दिशा मानी जाती है। हिन्दू शास्त्रों के अनुसार यम को मृत्यु का देवता माना जाता है।

दरवाजे या खिड़की पर ना लगाएं घड़ी

  • हमेशा घड़ी को उत्तर-पूर्व की तरफ ही लगाएं ज्यादातर लोग घड़ी को दरवाजे या फिर खिड़की के पास लगा देते हैं। ऐसा करने से परिजनों की सेहत पर असर पड़ सकता है। कमरे के दरवाजे से मनुष्य ही नहीं प्रकृति की उर्जा भी प्रवेश करती है। ऐसा करने से परिजनों की सेहत पर असर पड़ सकता है। कमरे के दरवाजे से मनुष्य ही नहीं प्रकृति की उर्जा भी प्रवेश करती है। दरवाजे या खिड़की पर घड़ी लगाने से खुशियां प्रवेश नहीं कर पातीं, इससे घर में अच्छा माहौल नहीं रहता।

घड़ी का शीशा टूटा हुआ ना हो

  • वास्तु के अनुसार घर में घड़ी का शीशा टूटा नहीं होना चाहिए और साथ ही घर की कोई भी घड़ी समय से पीछे न चले। अगर हो सके तो घड़ी की सुई को 5 से 7 मिनट आगे ही रखनी चाहिए। वास्तु के अनुसार किसी भी प्रकार की घड़ी को तकिए के नीचे नहीं रखनी चाहिए। इससे व्यक्ति पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। अगर आप नए अवसर तलाश रहे हैं तो घड़ी को पश्चिम दिशा में लगाएं।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।