चलो बुलावा आया है, माता ने बुलाया है- 16 से वैष्णोदेवी यात्रा शुरू, रोज 5000 श्रद्धालुओं को दर्शन सुख

New Delhi : जम्मू कश्मीर में धार्मिक स्थलों को एक बार फिर से स्टैंडर्ड ऑफ प्रोटोकॉल के तहत खोला जा रहा है। जम्मू कश्मीर सरकार ने मंगलवार को कहा कि धार्मिक स्थलों/पूजा घरों को केन्द्र शासित प्रदेश जम्मू कश्मीर में 16 अगस्त से खोला जा रहा है। इस फैसले से वैष्णोदेवी यात्रा शुरू हो जायेगी। श्रीमाता वैष्णो देवी यात्रा शुरू होने के बाद देश-विदेश से आने वाले श्रद्धालुओं से वीरान पड़े कटरा के शिविर में फिर से रौनक लौट आयेगी। कोरोना की वजह से 18 मार्च से श्रीमाता वैष्णो देवी कटरा की यात्रा पूरी तरह से बंद पड़ी है। नगर कटरा के लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

सभी श्रद्धालुओं को आरोग्य सेतू ऐप इंस्टॉल और उसका इस्तेमाल अनिवार्य होगा। मूर्तियों को छूना, मूर्ति या कोई धार्मिक किताब लेकर जाने की अनुमति नहीं दी जायेगी। कटरा में माता वैष्णो देवी के तीर्थयात्रियों की अपेक्षाकृत बड़ी संख्या के कारण, 30 सितंबर तक प्रति दिन अधिकतम 5000 तीर्थयात्रियों की छत होगी। जम्मू-कश्मीर के बाहर से एक श्रेणीबद्ध तरीके से इस छत के भीतर प्रतिदिन अधिकतम 500 तीर्थयात्रियों की अनुमति होगी।
कटरा का व्यापार पूरी तरह से माता वैष्णो देवी की यात्रा पर ही निर्भर है। लेकिन यात्रा बंद होने से स्थानीय लोगों की कमाई पूरी तरह से बंद हो चुकी है। वैष्णो देवी यात्रा बंद होने के चलते नगर कटरा पूरी तरह से बंद है। और स्थानीय लोग अब माता वैष्णो देवी की यात्रा शुरू होने का इंतजार कर रहे हैं। उन्हें उम्मीद है कि यात्रा शुरू होने से उनके बीते दिन फिर लौट आयेंगे।

माता वैष्णो देवी यात्रा का संचालन करने वाले श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड ने यात्रा शुरू करने के लिए एक SOP तैयार किया है। इसके लिए मंदिर बोर्ड ने भी अंदर खाने तैयारी कर रखी है। इस एपिसोड में दर्शनि देवधी के साथ बैन गंगा क्षेत्र में चेतक भवन में मेडिकल कैंप शुरू है। इसमें घोड़ों और उनके ड्राइवरों के कोरोना जांच के नमूने सोमवार को लिये गये ताकि बाद में कोई खतरा न हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

+ thirty one = 38