जितेंद्र के लक्ष्मण बने थे अपने श्रीराम, जयाप्रदा बनीं थीं सीता और हनुमान कोई दूसरा कैसे बनता

New Delhi : लॉकडाउन के बीच सीरियल ‘रामायण’ के दूरदर्शन पर फिर से प्रसारण होने के बाद भगवान ‘राम’ का किरदार निभाने वाले अरुण गोविल फिर से घर-घर में मशहूर हो गये हैं। लोग उनके बारे में ज्यादा से ज्यादा जानने के इच्छुक हैं। उनसे बात कर रहे हैं और उनको सुन रहे हैं लेकिन बहुत कुछ अब भी ऐसा है जो हम अरुण गोविल के बारे में नहीं जानते हैं। जिसमें से एक बात यह भी कि उन्होंने एक फिल्म में ‘लक्ष्मण’ का किरदार भी निभाया था और उनके श्रीराम बने थे वेटरन बॉलीवुड एक्टर जितेंद्र।

अरुण गोविल ने साल 1997 में आई वी. मधुसूदन राव की फिल्म ‘लव कुश’ में ‘लक्ष्मण’ का किरदार निभाया था। इस फिल्म में जितेंद्र और जया प्रदा भगवान ‘राम’ और ‘सीता’ के रोल में थे। अब इस फिल्म की कुछ फोटोज सोशल मीडिया पर फिर से सामने आई हैं और वायरल हो गईं हैं। फिल्म में दारा सिंह ने ही हनुमान का किरदार निभाया था। इसमें अरुणा इरानी और प्राण ने भी महत्वपूर्ण भूमिकाएं निभाई थी।
अरुण गोविल ने ट्विटर पर अपना दर्द बयां किया था। उन्होंने बताया था कि किसी भी सरकार ने उन्हें आजतक पुरस्कार नहीं दिया। उन्होंने लिखा – चाहे कोई केंद्र सरकार हो या फिर राज्य सरकार, मुझे आज तक किसी सरकार ने कोई सम्मान नहीं दिया है। मैं उत्तर प्रदेश से हूं, लेकिन वहां की सरकार ने भी मुझे कोई सम्मान नहीं दिया। अरुण गोविल ने आगे लिखा था कि मैं पिछले 50 वर्षों से मुंबई में हूं लेकिन महाराष्ट्र सरकार ने भी कोई सम्मान नहीं दिया। वे फिल्मफेयर के एडिटर से ट्विटर पर बात कर रहे थे जिस दौरान उन्होंने ये दर्द बयां किया था।

हाल ही में अरुण गोविल ने ‘रामायण’ से जुड़ी कुछ यादें ताजा की थीं। ‘टाइम्स ऑफ इंडिया’ को इंटरव्यू देते हुए अरुण गोविल ने कहा था कि असल में जब वह ‘रामायण’ के लिए पहली बार ऑडिशन देने गए तो उन्हें रिजेक्ट कर दिया गया था। लेकिन बाद में मेकर्स उनके पास आए और ‘राम’ का रोल ऑफर किया, जिसके बाद उनकी जिंदगी बदल गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

39 + = forty