जावेद अख्तर बोले – अगर काबा और मदीना बंद हो सकते हैं तो भारत की मस्जिदें क्यों नहीं?

New Delhi : देशभर में Corona Virus संक्रमण के मामले बढ़ते जा रहे हैं। पूरे देश में 21 दिन का लॉकडाउन घोषित किया गया है। इस बीच, मशहूर गीतकार Javed Akhtar ने भारतीय मस्जिदों को भी बंद करने की मांग उठाई है। उन्‍होंने इस्‍लामिक स्‍कॉलर और अल्‍पसंख्‍यक आयोग के पूर्व चेयरमैन ताहिर महमूद साहब की बात का हवाला देते हुए इस बारे में ट्वीट किया है।
जावेद अख्‍तर ने ट्विटर पर लिखा – एक स्‍कॉलर और माइनॉरिटी कमिशन के पूर्व चेयरमैन ताहिर महमूद साहब ने दारूल उलूम देवबंद से एक फतवा जारी करने को कहा है कि जब तक कोरोना संकट है, सभी मस्जिदों को बंद किया जाए। मैं इस मांग का पूरा समर्थन करता हूं। अगर काबा और मदीना में मस्जिद बंद की जा सकती है तो भारतीय मस्जिदें क्‍यों नहीं।


दिल्‍ली में जुटी थी भीड़, अब मिले COVID-19 के लक्षण
दिल्‍ली के निजामुद्दीन इस्लामिक सेंटर से कोरोना वायरस के 63 संदिग्‍धों को अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है। यहां पर 300-400 लोग धार्मिक कार्यक्रम के लिए इकट्ठा हुए थे। दिल्ली सरकार ने मरकज के मौलाना के खिलाफ FIR दर्ज करने के निर्देश दिए हैं। सरकार ने बयान में कहा – हमारी जानकारी में आया है कि निजामुद्दीन मरकज के प्रशासकों ने कोरोना वायरस लॉकडाउन की शर्तों का उल्‍लंघन किया और अब कई सारे पॉजिटिव मामले मिले हैं। इस संस्‍था के प्रशासकों के खिलाफ सख्‍त कार्रवाई की जाएगी।
इस महीने की शुरुआत में, दिल्ली सरकार ने धार्मिक, सामाजिक, सांस्कृतिक और राजनीतिक कार्यक्रमों के साथ-साथ 31 मार्च तक 50 से अधिक लोगों के विरोध प्रदर्शनों के लिए एकत्र होने पर भी रोक लगा दी थी। साथ ही कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए बुधवार से 21 दिन के लिए लोगों के आवागमन पर देशव्यापी रोक लगायी गई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fifty six − = forty eight