पहली बार शिंजो आबे के साथ सैयद मस्जिद जाएंगे PM मोदी,गाइड बनकर दिखाएंगे सांस्कृतिक विरासत

पहली बार शिंजो आबे के साथ सैयद मस्जिद जाएंगे PM मोदी,गाइड बनकर दिखाएंगे सांस्कृतिक विरासत

By: Madhu Sagar
September 12, 11:09
0
New Delhi:

जापान के पीएम शिंजो आबे 13 सितंबर से दो दिन के भारत दौरे पर रहेंगे । इस दौरान वो अहमदाबाद की मशहूर सीदी सैयद मस्जिद भी जाएंगे। इस दौरे को लेकर मशहूर सीदी सैयद मस्जिद इन दिनों काफी चर्चा में बना हुआ है। और हो भी क्यों ना शिंजो आबे पीएम मोदी के साथ इस मस्जिद को देखने जाएंगे।

पीएम मोदी चाहते हैं जब शिंजो आबे उनके साथ हों तो इससे जुड़ी सारी अहम बातें उन्हें पता हो, जिसे वह अपने समकक्ष के साथ शेयर कर सकें। ऐसे में प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने सुन्नी वक्फ कमिटी से 16वीं शताब्दी में बने इस मस्जिद के आर्किटेक्चर और इतिहास से संबंधित सारी पठनीय जानकारियां भेजने को कहा है। 

म्युनिसिपल कमिश्नर मुकेश कुमार ने बताया, 'पहली बार प्रधानमंत्री मोदी सीदी सैयद मस्जिद देखने आ रहे हैं। हालिया दिनों में यूनेस्को के डायरेक्टर जनरल इरिना बोकोवा को छोड़कर कोई भी नामचीन हस्ती इस मस्जिद को देखने नहीं आया। इरिना गुजरात के सीएम विजय रुपानी को वर्ल्ड हेरिटेज सर्टिफिकेट सौंपने आए थे।'

सुन्नी वक्फ कमिटी के चेयरमैन रिजवान कादरी ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री मोदी खुद जापानी पीएम शिंजो आबे को सीदी सैयद मस्जिद की अहमियत और इतिहास बताना चाहते हैं। यह मस्जिद संस्कृति और खूबसूरती का मिश्रण है। यह अहमदाबाद की पहचान है। सूत्रों का कहना है कि 2013 में ओमान के मंत्री मोहम्मद बिन कासिम की अगुवाई में तीन सदस्यीय दल इस मस्जिद को देखने आया था, लेकिन यह अनौपचारिक दौरा था।

जापानी पीएम 13 सितंबर को भारत पहुंच रहे हैं। आबे अपने भारत दौरे के पहले ही दिन अहमदाबाद की यात्रा करेंगे। जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे भारत के अपने दो दिवसीय दौरे में अहमदाबाद में पीएम नरेंद्र मोदी के साथ एक रोड शो में भी शामिल होंगे। 8 किलोमीटर लंबा रोड शो अहमदाबाद एयरपोर्ट से शुरू होगा और साबरमती आश्रम तक जाएगा।

इस मस्जिद की खूबसूरती को निखारने में अहमदाबाद म्युनिसिपल कमिश्नर मुकेश कुमार, पुरातात्त्विक सर्वे विभाग के प्रमुख सज्जन सिंह परमार और एसपीजी के अधिकारियों ने काफी मेहनत की है। पीएम मोदी और शिंजो आबे के लिए खासतौर पर फोटो सेशन का कार्यक्रम रखा गया है। शाम 6.45 के करीब दोनों पीएम यहां फोटो खिंचवाएंगे। सूर्यास्त के वक्त वह नजारा बेहद मनोरम होता है।

सीदी सैयद मस्जिद का इतिहास बेहद दिलचस्प है। इसे 1572 में सुल्तान शमसुद्दीन मुजफ्फर शाह (तृतीय) के शासनकाल में इथियोपिया के हब्शी सीदी सैयद ने बनाया था। मुजफ्फर शाह गुजरात सल्तनत के आखिरी सुल्तान थे। वैसे यह मस्जिद पूरी तरह बनकर तैयार 1573 में तैयार हुआ, जब मुगल बादशाह अकबर ने गुजरात पर कब्जा कर लिया था।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

comments
No Comments