अभी-अभी: रोटी खाने से डरते हैं ओबामा, भारतीय व्यंजनों पर की दिल खोलकर बात

अभी-अभी: रोटी खाने से डरते हैं ओबामा, भारतीय व्यंजनों पर की दिल खोलकर बात

By: Naina Srivastava
December 01, 13:12
0
New Delhi:  Hindustan Times Leadership Summit 2017 के दूसरे दिन अमेरिका के पूर्व  राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भारत की भूमिका पर चर्चा की। ओबामा ने भारतीय व्यंजन पर दिल खोलकर बात की।

अमेरिका के पूर्व राष्‍ट्रपति बराक ओबामा भारत दौरे पर हैं। ओबामा इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मिलेंगे। बता दें कि भारतीय संस्कृति से प्रभावित बराक ओबामा ने भारतीय व्यंजनों पर बात करते हुए कहा कि उन्हें भारत की हर चीज पसंद है,लेकिन उन्हें रोटी बहुत कड़ी लगती है। 


इसे भी पढ़ें- इवांका ने मीडिया को दी चेतावनी, कहा मालिया ओबामा की निजता का ख़्याल रखे

ओबामा

आपको बता दें कि ओबामा ने भारतीय व्यंजन के बारे में बताया कि वह पहले ऐसे अमेरिकी राष्ट्रपति हैं, जिन्होंने दाल बनानी सीखी है।  लेकिन उन्होंने रोटी से हाय तौबा कर लिया। ओबामा का कहना है कि चपाती (रोटी) बनाना बेहद मुश्किल काम है।  ओमाबा ने भारतीय व्यंजन की तारीफ के साथ-साथ कहा कि  'My keema is also excellent, but my chicken is okay'। 

इसे भी पढ़ें- ओबामा की बेटी का बिंदास अंदाज, ब्वॉयफ्रेंड को किस करती वीडियो में लड़के का सच आया सामने 

ओबामा

इतना ही नहीं ओबामा ने आगे कहा कि वह पीएम मोदी के व्यक्तिव्त से बेहद प्रभावित हैं, वह पीएम मोदी से प्राइवेट चैट करते हैं। ओबामा का कहना है कि यदि भारत और अमेरिका एक साथ काम करें, तो मेरा मानना है कि ऐसी कोई समस्या नहीं है जो हम हल नहीं कर सकते हैं। ओबामा ने अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के लिए आगे कहा कि 'अमेरिका डोनाल्ड ट्रम्प और डोनाल्ड डक के लिए प्रसिद्ध है', जो असली अमेरिका का प्रतिनिधित्व करता है। अमरीका के बारे में एक खुशहाली और निराशा यह है कि यह विरोधाभासी हो सकता है। 

इसे भी पढ़ें- व्हाइट हाउस में PM मोदी-ओबामा के साथ खड़ी इस महिला की फोटो वायरल, जानिये कौन है ये महिला

जानकारी के लिए बता दें कि ओबामा इस समिट में रिलायंस इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष मुकेश अंबानी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और अन्य दिग्गजों के बीच वैश्विक स्तर पर भारत की वृद्धि पर भी चर्चा करेंगे। गुरुवार को प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस साल के शिखर सम्मेलन का उद्घाटन किया, उन्होंने भ्रष्टाचार के खिलाफ केंद्र के अभियान के बारे में बात की और कहा कि देश में परिवर्तन की अवधि चल रही है। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने GST पर अपने विचार और बुनियादी ढांचे और ग्रामीण क्षेत्रों पर खर्च पर सरकार का ध्यान साझा किया। इसी बीच अफगानिस्तान के सीईओ अब्दुल्ला अब्दुल्ला और बॉलीवुड सुपरस्टार सलमान खान ने भी सभा को संबोधित किया। 

इसे भी पढ़ें- मोदी से मिलने दिल्ली आ रहे हैं ओबामा,बोले- दुनिया के सबसे ताकतवर नेता से मिलने को बेकरार हूं

शिखर सम्मेलन के दूसरे दिन ओबामा, अंबानी और आदित्यनाथ के अलावा, “The Irreversible Rise of India” तैयार किया जाएगा। बता दें कि आठ सालों तक विश्व के सबसे ताकतवर देश के राष्ट्रपति रहे बराक करीब दो साल बाद भारत आ रहे हैं। पिछली बार बराक 2015 में गणतंत्र दिवस परेड में शामिल होने भारत आए थे।

ओबामा अपनी पत्नी मिशेल ओबामा के साथ अपने ओबामा फाउंडेशन में शामिल होने भारत आए हैं। आज की मीटिंग टाउन हॉल में होगी और इस मीटिंग में  देश के करीब 300 लीडर भाग लेंगे। ओबामा फाउंडेशन के प्रवक्ता ने बताया कि टाउन हॉल के जरिए ओबामा फाउंडेशन उभरते हुए नेताओं को ये बताने का प्रयास है कि लोगों को ये बताया जाए कि एक सक्रिय नागरिक होने का मतलब क्या है और यह कैसे समाज पर असर डालती है।

इससे पहले मोदी और ओबामा कई बार मिल चुके हैं। 2015 में उन्होंने टाइम मैगजीन को दिए एक इंटरव्यू में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए काफी बातें कहीं थी। बराक ने प्रधानमंत्री के महत्वकांक्षी दृष्टिकोण के साथ, गरीबी, शिक्षा की स्थिति को सुधारने से लेकर पर्यावरण और महिलाओं और लड़कियों को सशक्त करने की योजना की खूब तारीफ की थी।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।