मैट्रिमोनियल साइट से हुई शादी,दहेज के लिए किया प्रताड़ित,पीरियड्स के समय पेट में मारता था पति

मैट्रिमोनियल साइट से हुई शादी,दहेज के लिए किया प्रताड़ित,पीरियड्स के समय पेट में मारता था पति

By: Madhu Sagar
November 13, 11:11
0
New Delhi: UP के Lucknow में 16 फरवरी 2017 को हुई इस घटना पर अभी भी रहस्य बना हुआ है। यह मामला PCS की पत्नी नम्रता की मौत का है। जिसके  9 महीने बाद भी रहस्य बरकरार है। 

इस मामले में मृतका के परिजनों ने ससुरालवालों के खि‍लाफ दहेज के लिए प्रताड़ि‍त करने का आरोप लगाया था। जिसके बाद पुलिस ने आरोपी पति को और सास को अरेस्ट कर जेल भेज दिया है। इस मामले में बात करते हुए मृतका की बहन ने अपनी बहन और उसके हसबैंड के रिलेशनसिप को लेकर खास बातें शेयर की है।  

बड़ी बहन की जगह छोटी आ गई थी पसंद

  • मृतका की मां किरण ने बताया था, "नम्रता मेरी छोटी बेटी थी। वो IAS बनने की तैयारी कर रही थी। तभी एक मैट्रिमोनियल वेबसाइट से दीपरतन का रिश्ता आया। हम अपनी बड़ी बेटी के लिए रिश्ता देख रहे थे, लेकिन दीपरतन के घरवालों को नम्रता पसंद आई। हम तैयार नहीं थे लेकिन दीपरतन की मां के कन्विन्स करने के बाद हमने शादी के लिए हां बोल दिया। दीपरतन पीसीएस था। 

 दीप पीरियड्स के समय सबसे ज्यादा मारता था

  • "दीप की मां ने कहा था कि नम्रता शादी के बाद भी पढ़ाई जारी रख सकती है। इसी शर्त पर वो शादी के लिए तैयार हुई थी। 10 जून 2015 को दोनों की शादी कराई गई थी।" कजिन सिस्टर चित्रा ने बताया था, "बहन दीप से इमोशनली अटैच थी। बहुत सी ऐसी बातें थी जो वो सिर्फ मुझसे शेयर करती थी। लेकिन दीप दहेज के लिए उसे प्रताड़ि‍त करता था। पीरियड्स के समय में सबसे ज्यादा मारता था।"

बहन ने दी थी डि‍वोर्स लेने की सलाह

  • उसने बताया कि दीप पीरियड्स के दौरान उसको पेट और पीठ पर मारता था। बहन घर आकर मुझसे पेट और पीठ की मालिश करने को कहती थी। वो बताती थी कि दीप ने बहुत मारा, मालिश कर दो। मैंने बहन को डि‍वोर्स लेने की सलाह दी थी, लेकिन वो रिश्ता नहीं तोड़ना चाहती थी।''

16 फरवरी की शाम 8.30 बजे लखनऊ में कमर्शियल टैक्स डिपार्टमेंट में पोस्टेड पीसीएस अफसर दीपरत्न की पत्नी नम्रता की 14वीं मंजिल से गिरने से मौत हो गई थी। पुलिस को घटनास्थल से पति-पत्नी के बीच झगड़े के निशान मिले थे। स्पॉट पर नम्रता का पर्स खुला पड़ा था, जिसमें डिप्रेशन की गोलियां और साइकोलॉजिस्ट का प्रिस्क्रिप्शन भी था।

मौके पर पहुंचे तत्कालीन एएसपी शिवराम यादव ने बताया था, ''घटना के दिन नम्रता अपने पिता आरएन पासवान के घर बहन की इंगेजमेंट अटैंड करने गई थी। सेरेमनी से शाम 4.30 बजे जब वो घर लौटी, तो फ्लैट पर ताला लगा था। उसने तुरंत पति दीप को फोन लगाया। दीपरतन नम्रता के फोन करने के 2 घंटे बाद घर आए। इस बात पर दोनों के बीच तीखी बहस हुई। रात 8.30 बजे अपार्टमेंट के गार्ड कृष्णा यादव ने कुछ गिरने की आवाज सुनी। जब स्पॉट पर पहुंचा तो वहां नम्रता खून में लथपथ अपार्टमेंट के नीचे पड़ी थी।''

घटना के बाद से दीपरतन और उनकी मां फरार हो गए थे। मृतका के परिवारवालों ने ससुरालवालों के खि‍लाफ दहेज हत्या का केस दर्ज कराया। 

केस से जुड़े तत्कालीन सीओ अवनीश कुमार मिश्रा ने बताया, मृतका के पिता की तहरीर पर दहेज हत्या का केस दर्ज किया गया था। चार्जशीट दाखिल कर दी गई है, लेकिन अभी कोर्ट में ट्रायल नहीं शुरू हुआ है। इस मामले में मई 2017 को आरोपी अनुराधा को बेल मिल गई, जबकि दीप अभी भी जेल में बंद है।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।