फेमस रम 'ओल्ड मंक' की कामयाबी के पीछे था इस शख्स का हाथ,नहीं रहे पद्मश्री से सम्मानित कपिल मोहन

फेमस रम 'ओल्ड मंक' की कामयाबी के पीछे था इस शख्स का हाथ,नहीं रहे पद्मश्री से सम्मानित कपिल मोहन

By: Madhu Sagar
January 09, 12:01
0
New Delhi: शनिवार को 'ओल्ड मंक' रम को बनाने वाले ब्रिगेडियर का निधन हो गया। बता दें 88 साल के कपिल मोहन मीकिन लिमिटेड के चैयरमैन थे। 

जानी-मानी रम 'ओल्ड मंक' को बनाने वाले कपिल मोहन का बीते शनिवार को निधन हो गया। यह कंपनी ही ओल्ड मंक के साथ-साथ बाकी कुछ और ड्रिंक्स बनाने का काम करती है। खबरों के मुताबिक, मोहन को उनके गाजियाबाद वाले घर में हर्ट अटैक आया था।

पढ़े-  हॉरर फिल्मों के नाम पर सेक्स बेचने वालों को विक्रम भट्ट ने कहा- लोग अब मैच्योर हो गए हैं

कपिल मोहन पहले आर्मी में थे, वह ब्रिगेडियर रहते हुए रिटायर हुए थे। उन्हें 2010 में पद्मश्री पुरस्कार से भी नवाजा गया था। खबरों के मुताबिक, मोहन पिछले कुछ सालों से बीमार रहते थे। 

पढ़े- इस शख्स ने सेक्स ड्रग्स का लिया ओवरडोज,फिर एयरपोर्ट पर की 'गंदी बात'

मोहन परिवार को देश का सबसे पहला शराब कारोबारी माना जाता है। मिली जानकारी के मुताबिक आजादी से पहले जलियांवाला बाग हत्याकांड वाले जनरल डायर के पिता, एडवर्ड डायर ने हिमाचल के कसौली में डायर ब्रिअरी नाम से शराब की कंपनी खोली थी। आजादी के बाद इस कंपनी को मोहन परिवार ने खरीद लिया। और फिर इस कंपनी को नाम दिया गया मोहन मैनिक लिमिटेड।

ओल्ड मंक की सफलता के बाद मोहन मीकिन ने बाकी बिजनेस में भी अपना हाथ आजमाया था। जिसमें ग्लास फैक्ट्री, नाश्ते का खाना, फल-जूस प्रॉडक्ट्स, कोल्ड स्टोरेज आदि शामिल थे। 1954 में लॉन्च हुई ओल्ड मंक लंबे समय तक दुनिया में सबसे ज्यादा बिकने वाली डार्क रम रही। साथ ही यह कई सालों तक भारत में निर्मित विदेशी शराब (आईएमएफएल) की सबसे बड़ी ब्रैंड रही। 

बता दें कि 2015 में सोशल मीडिया पर अफवाह उड़ी थी कि कंपनी ओल्ड मंक को बंद करने वाली है। हालांकि, तब मोहन ने खुद ही सामने आकर कहा था कि ऐसा कुछ नहीं होने जा रहा है। कंपनी ने दक्षिण भारत में उनकी बिक्री कम होने की बात मानी थी लेकिन वे फिर भी इसको बंद नहीं करना चाहते थे। 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।