इंटरनेशनल मिलिट्री प्रतियोगिता से बाहर हुआ भारत, दोनों टैंक हो गए खराब

इंटरनेशनल मिलिट्री प्रतियोगिता से बाहर हुआ भारत, दोनों टैंक हो गए खराब

By: Shashikant
August 13, 07:08
0
New Delhi

RUSSIA की राजधानी मास्को में चल रहे INTERNATIONAL ARMY GAMES से भारत बाहर हो गया है। बताया जा रहा है कि इस प्रतियोगिता के दौरान भारत का टैंक खराब हो गया। जिसके चलते इस प्रतियोगिता से बाहर होना पड़ा। यह प्रतियोगिता अलाबीनो रेंज में चल रही है। भारत की तरफ से इन खेलों में दो टी-90 एस टैंक शामिल किये गये थे।


रूस में निर्मित टी-90एस टैंकों को काफी मजबूत और सक्षम माना जाता है लेकिन इन टैंकों में मशीनी खराबी आ गई। वहीं रूस, चीन, बेलारूस और कजाखस्तान के युद्धक वाहन फाइनल में पहुंच गए। 2001 से 8525 करोड़ रुपये में 657 टी-90एस 'भीष्म' टैंकों का आयात किया गया। इसके बाद इन टैंकों को भारत में ही बनाया जा रहा है।


मेन और रिजर्व टी-90एस टैंकों को भारत से रूस में आयोजित हो रही इंटरनेशनल आर्मी गेम्स के टैंक बैथलॉन के लिए भेजा गया था। इन टैंकों में इंजन प्रॉब्लम आने से प्रतियोगिता से बाहर हो गए। इन टैंकों से शुरुआती राउंड में शानदार प्रदर्शन किया था।


एक अधिकारी ने कहा कि पहले टैंक की फैन बेल्ट टूट गई। इसके बाद रिजर्व टैंक को रेस में भेजा गया, लेकिन सिर्फ दो किलोमीटर की दौड़ के बाद ही इसका पूरा इंजन ऑइल लीक हो गया। यह टैंक रेस पूरी ही नहीं कर पाया। बदकिस्मती से भारतीय टीम डिस्क्वॉलिफाइ हो गई।
चीन इस प्रतियोगिता में टाइप-96बी टैंकों से साथ उतरा है। इस टैंक में दौड़ते समय भी दुश्मन के टैंक पर मशीन गनों से फायर करने और अन्य कई खूबियां हैं। वहीं रूस और कजाखस्तान टी-72बी3 टैंकों के साथ इस प्रतियोगिता में उतरे। वहीं बेलारूस के पास टी-72 टैंकों का आधुनिक रूप है। ये चारों देश अब फाइनल में भिड़ेंगे।
 

सेना का तर्क है कि 62-टन वजनी टैंक अर्जुन का वजन और चौड़ाई ज्यादा है। इसकी ऑपरेशनल मोबिलिटी भी खराब है। सेना ने फ्यूचर रेजी कॉम्बेट वीइकल की तलाश भी शुरू कर दी है।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।