रोहिंग्या मुसलमानों की मदद के लिए सबसे पहले आगे आया भारत, भिजवाया खाने का सामान

रोहिंग्या मुसलमानों की मदद के लिए सबसे पहले आगे आया भारत, भिजवाया खाने का सामान

By: Rohit Solanki
September 14, 16:09
0
....

NEW DELHI : भारत सरकार ने म्यांमार से भागकर बांग्लादेश आए रोहिंग्या शरणार्थियों की मदद के लिए हाथ बढ़ाया है। लाचार लोगों की मदद के लिए इस ऑपरेशन को नाम दिया गया है 'ऑपरेशन इंसानियत'।  ऑपरेशन इंसानियत के तहत भारत ने चावल, चीनी, दाल, नमक, खाने का तेल, चाय, नूडल्स, बिस्किट और मच्छरदानी जैसी चीजों को जल्द भिजवाने का भरोसा दिया। 

विदेश मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि भारत और बंगलादेश के बीच अच्छी दोस्ती और आपसी संबंध हैं। इसी कारण हम बांग्लादेश सरकार की आवश्यकता पड़ने पर हर संभव मदद के लिए तैयार है। संयुक्त राष्ट्र के मुताबिक 25 अगस्त को म्यांमार के रखाइन राज्य से हिंसा के बाद 379, 000 से अधिक रोहिंग्या मुस्लिम बांग्लादेश भाग गए थे।

दरअसल, म्यांमार में हिंसा तब शुरू हुई थी जब म्यांमार के रखाइन राज्य में रोहिंग्या के उग्रवादियों ने पुलिस पोस्ट पर हमला किया था। रोहिंग्या मुसलमानों का आरोप है कि सेना और रखाइन बौद्धों ने उनके खिलाफ एक क्रूर अभियान चलाया था। आपको बता दें बांग्लादेश ने पहले कहा था कि रोहिंग्या शरणार्थी देश पर एक असहनीय अतिरिक्त बोझ हैं, जो लगभग 400,000 म्यांमार नागरिकों की मेजबानी कर रहा है, जिन्हें हिंसा और सैन्य ऑपरेशन के कारण अपने देश से बाहर जाना पड़ा।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

comments
No Comments