ओबामा से ट्रांसजेंडर ने कहा-आपसे प्यार करती हूं,क्या आपको गले लगा सकती हूं,जवाब मिला 'हां'

ओबामा से ट्रांसजेंडर ने कहा-आपसे प्यार करती हूं,क्या आपको गले लगा सकती हूं,जवाब मिला 'हां'

By: Madhu Sagar
December 02, 10:12
0
New Delhi: America के former President Barack Obama भारत दौरे पर है। उन्होंने इस दौरान उनसे एक ट्रांसजेंडर सोशल एक्टिविस्ट ने एक सवाल पूछा जिसके जवाब में ओबामा ने हां कहा।

भारत और अमेरिका में बहुत कुछ कॉमन है, जैसे डेमोक्रेसी और कल्चर। इस दौरान उन्होंने कहा, "हमें बांटने वाली ताकतों के खिलाफ लड़ना होगा।" ओबामा ने भारत के 300 यंग लीडर्स और आंत्रप्रेन्योर्स से बातचीत भी की। इसे Obama.org, फाउंडेशन के फेसबुक पेज और यूट्यूब पर लाइव किया जा रहा है। इस दौरान एक ट्रांसजेंडर सोशल एक्टिविस्ट ने पूछा- क्या मैं आपको गले लगा सकती हूं? इस पर ओबामा ने जवाब दिया- हां... लेकिन प्रोग्राम के बाद।

बराक ओबामा

पढ़े- भारत आकर ओबामा ने की मनमोहन सिंह की तारीफ,बोले- इनकी बदौलत भारत की इकोनॉमी बनी मॉडर्न


इस प्रोग्राम की खास बात थी कि ओबामा ने अपनी स्पीच हिंदी में शुरू की थी। उन्होंने कहा, "बहुत धन्यवाद" आर मुझे सुनने के लिए यहां आए। आगे ओबामा ने कहा कि "मैं इस देश में रिपब्लिक डे पर चीफ गेस्ट बनने वाला पहला अमेरिकी प्रेसिडेंट था। हम व्हाइट हाउस में दीपावली भी मनाते हैं। आज अमेरिका में लाखों भारतीय हैं और वहां की इकोनॉमी ही नहीं, बल्कि हर सेक्टर में योगदान दे रहे हैं। हम लोगों में बहुत कुछ कॉमन है। जैसे डेमोक्रेसी और कल्चर। 

बराक ओबामा और मोदी

पढ़े- अभी-अभी: रोटी खाने से डरते हैं ओबामा, भारतीय व्यंजनों पर की दिल खोलकर बात

ओबामा ने साथ ही कहा कि "भारत में कुलदीप दंगवादिया जैसे लोग हैं। जिन्होंने समाज के लिए बहुत कुछ किया है। मुद्दा ये है कि इन यंग लीडर्स ने दुनिया को बताया है कि अगर इच्छाशक्ति हो तो दुनिया को एक नए और बेहतर रास्ते पर ले जाया जा सकता है। आप इंसान हैं और इस धरती पर आपका जन्म कुछ करने के लिए हुआ है। आगे बढ़ने के लिए काम करते हैं तो कई दिक्कतें और परेशानियां आएंगी। लेकिन, इनसे ही तो बाहर निकलकर दुनिया को कुछ देने की चुनौती आपके सामने है। 

बराक ओबामा

पढ़े- अमेरिका से भारत आकर ओबामा ने सीखी दाल बनाना, कहा- खुद बनाकर सबको खिलाऊंगा


ओबामा ने यंग लीडर्स के बारे में बोलने से पहले कहा, "अगर मैं प्रोग्राम के बीच में कुछ देर खड़ा रहकर बात करता हूं तो बुरा मत मानिए, क्योंकि यहां से निकलने के बाद मुझे बहुत लंबी फ्लाइट में बैठना है।" इसके बाद उन्होंने कहा कि "टेक्नोलॉजी दुनिया को बेहतर बना सकती है लेकिन कई बार इसके खतरे भी सामने आते हैं। इसके जरिए आप लोगों तक बहुत जल्दी पहुंच सकते हैं। मुझे अपने इलेक्शन में सोशल मीडिया का बहुत फायदा मिला था। ब्यूरोक्रेसी और इन्फ्रास्ट्रक्चर में इसका इस्तेमाल बढ़ाया जाना चाहिए। हम चाहते हैं कि लोग ऑनलाइन संपर्क करें, लेकिन ऑफलाइन जरूर मिलें।

भारत आएं ओबामा

पढ़े- ओबामा ने मोदी-मनमोहन को बताया अपना अच्छा दोस्त, कहा-दोनों की तुलना करना गलत


टाउन हॉल में मौजूद एक ट्रांसजेंडर ने ओबामा से कहा, "मैंने भीख मांगी, सेक्स वर्कर रही, और आज आपसे प्यार करती हूं। मेरे कई सवाल हैं। मेरे पास यहां आने के पैसे नहीं थे। एक एनजीओ ने यहां तक पहुंचाया। मेरा सवाल है कि राज्य ट्रांसजेंडर से भेदभाव क्यों करता है? मैं कैसे अपने सवालों और परेशानियों का हल करा सकती हूं। हम भी समाज का हिस्सा हैं? मैं आपको गले लगा लगानी चाहती हूं?" ओबामा ने जवाब में कहा कि, "जरूर, लेकिन इस प्रोग्राम के बाद।"

ओबामा ने जवाब दिया, "यह भारत की संसद और उसके कानून का मामला है। हम चाहते हैं कि सभी को अपनी आवाज उठाने का हक मिले। सिर्फ इसलिए कि कोई अलग है, उसके साथ भेदभाव नहीं होना चाहिए। हमको एक सही तरीके से समाज की सोच में बदलाव लाना होगा। एक अश्वेत के तौर पर मुझे भी पहले यही लगता था कि मैं दुनिया से अलग हूं। अच्छा नहीं लगता था। लेकिन, वहां हालात बदले। आप जब आवाज उठाते हैं तो लोग फिर साथ आ ही जाते हैं। अगर आप ट्रांसजेंडर हैं तो आपको सेक्शुअल असॉल्ट के खिलाफ आवाज उठानी होगी। 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।