राहुल को चुनौती देने वाले अयूब अली को पार्टी अध्यक्ष की रेस से बाहर निकाला, रद्द किया नामांकन

राहुल को चुनौती देने वाले अयूब अली को पार्टी अध्यक्ष की रेस से बाहर निकाला, रद्द किया नामांकन

By: Sachin
December 07, 14:12
0
...

New Delhi: उत्तर प्रदेश के कांग्रेस मुस्लिम लीडर अयूब अली ने ये दावा किया है कि गुरूवार को उन्होंने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी को चुनौती देते हुए पार्टी की टॉप पोस्ट के लिए नामांकन दिया है, लेकिन पार्टी के आलाकमान ने आंतरिक लोकतन्त्र का गला घोटते हुए अयूब का नामंकन रद्द कर दिया है।

अयूब अली ने कहा कि पार्टी हाई-कमान ने बिना कोई कारण बताए उनका नामांकन रद्द कर दिया है।

अयूब अली ने कहा कि पार्टी हाई-कमान ने बिना कोई कारण बताए उनका नामांकन रद्द कर दिया है। इससे कांग्रेस की छवि से एक बार फिर परिवारवाद झलक रहा है।

इसे भी पढ़ें:-

ये नियम लागू हुआ तो किसी भी नेटवर्क पर 3 महीने के लिए Free हो जाएगी Calling

शाहजहांपुर के रहने वाले हैं अयूब, 1980 से कांग्रेस के नेता हैं।

गौरतलब है कि पार्टी के युवा नेता शाहजाद पूनावाला ने सबसे पहले राहुल की ताजपोशी पर सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने राहुल का कांग्रेस अध्यक्ष बनना वंशवाद से प्रेरित बताया। पूनावाला ने एक टीवी डिबेट में कहा था कि प्रवक्ता मनीष तिवारी ने एक बातचीत के दौरान उनसे कहा था कि कांग्रेस भारत में हर दूसरे राजनीतिक दल की तरह " मालिकाना हक" रखता है।

पार्टी के युवा नेता शाहजाद पूनावाला ने सबसे पहले राहुल की ताजपोशी पर सवाल खड़े किए हैं।

मनीष तिवारी और पूनावाला की इस बातचीत की एक ऑडियो क्लिप भी टीवी चैनल ने ऑनएयर किता था। 

इसे भी पढ़ें:-

यहां इनवेस्ट करेंगे तो जल्द हो जाएंगे मालामाल, बैंक और म्युचुअल फंड से जल्दी

अयूब अली के इस दावे ने भाजपा को कांग्रेस पर हावी होने के लिए एक जबरदस्त हथियार दिया है

पूनावाला के बाद, अयूब अली के इस दावे ने भाजपा को कांग्रेस पर हावी होने के लिए एक जबरदस्त हथियार दिया है. भाजपा पहले से ही कहती आ रही है कि राहुल गाँधी को पार्टी अध्यक्ष बनाने के लिए चुनाव की तैयारी नहीं हो रही, बल्कि 'राज्याभिषेक' की तैयारी हो रही है।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।