भीष्म के किरदार में इस कदम रमे कि मुकेश खन्ना के लिये शादी का सवाल बवाल बन गया

New Delhi : महाभारत में भीष्म पितामह के रोले को निभाने वाले मुकेश खन्ना फिल्म इंडस्ट्री के एक चर्चित चेहरा हैं। अपने दमदार आवाज़ और प्रभावशाली अभिनय की वजह से मुकेश खन्ना ने भीष्म पितामह के किरदार को ऐतिहासिक बना दिया था। शायद यही वजह है कि बाद के दिनों में जितने भी नए लोगों ने इस किरदार को निभाया है उनको वो सम्मान और प्यार नहीं मिल पाया जो कभी मुकेश खन्ना को मिला था । लेकिन शायद कम ही लोगों को यह पता होगा कि भीष्म पितामह की तरह मुकेश खन्ना भी अविवाहित है । कुछ लोगों का यह भी कहना है कि महाभारत के इस किरदार से वो इतना ज्यादा प्रभावित हो गए कि अपने वास्तविक जीवन में भी उसको वो फॉलो करने लगे ।

एक इंटरव्यू के दौरान जब उनसे उनके अविवाहित होने का वजह पूछा गया तब इस सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि एक समय ऐसा था जब ये सवाल मुझसे हर इंटरव्यू में पूछा जाता था । विवाह एक पवित्र संस्था है और मैं इसका भरपूर सम्मान भी करता हूँ । कहा जाता है कि जोड़ियाँ स्वर्ग में बनती है और लगता है भगवान् ने मेरी जोड़ी बनायीं ही नहीं है । उन्होंने यह भी कहा कि कुछ लोग यह भी कहते हैं कि भीष्म पितामह के किरदार से प्रभावित होकर मैंने ये निर्णय लिया है । लेकिन मैं आप सब को ये बता दूँ कि मैं उनकी तरह महान नहीं हूँ । मैं एक साधारण आदमी हूँ और मैंने किसी तरह की कोई प्रतिज्ञा भी नहीं ली है । शादी किसी भी व्यक्ति का निजी मामला होता है। ये नसीब में लिखा होता है और शायद ये मेरे नसीब में नहीं था । बस यही बात है और ऐसी कोई ऐसी बात नहीं है जिसको लेकर बहस की जाए ।
अभी हाल के दिनों में मुकेश खन्ना ने कपिल शर्मा के शो में अपने नहीं जाने वजह इसको फूहड़ और बेतुका बताया । उनके इस बेबाकीपन से महाभारत में युधिष्ठिर का किरदार निभाने वाले गजेन्द्र चौहान काफी बौखला गए और उसके बाद शुरू हो गया एक- दूसरे पर आरोप -प्रत्यारोपों का दौर । उनके आपसी विवादों से आहत होकर गुफी पेंटल ने कहा कि कपिल शर्मा के शो में नहीं जाने का वजह जो मुकेश खन्ना ने दिया है वो उनका व्यक्तिगत मामला है । इस मामले में कपिल शर्मा की टीम या सोनी टीवी को आगे आकर अपनी प्रतिक्रिया देनी चाहिए थी।

गजेन्द्र चौहान को इस पर टिप्पणी नहीं करनी चाहिए थी । उन्होंने यह भी कहा कि दोनों काफी सीनियर कलाकार हैं और उनको इस तरह की बचकानी हरकते नहीं करनी चाहिए ।उनके इन आपसी मतभेदों की वजह से उनकी वर्षों की अर्जित प्रतिष्ठा कहीं धूमिल न हो जाये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

51 − = forty nine