इमरान ने संसद में ओसामा बिन लादेन को शहीद बताया, कहा- हमें अमेरिका का साथ नहीं देना चाहिए था

New Delhi : पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भरी संसद में अलकायदा के सरगना रहे ओसामा बिन लादेन को शहीद बताया। उन्होंने कहा – पाकिस्तान को इस काम में अमेरिका का साथ नहीं देना चाहिये था। अमेरिकी सेना ने पाकिस्तान में घुसकर लादेन की जान ले ली। और पाकिस्तान को बताया भी नहीं। इसके बाद पूरी दुनिया ने पाकिस्तान को भला-बुरा कहना शुरू कर दिया, जिससे देश को शर्मिंदा होना पड़ा। पाकिस्तान को कई सालों से अपमान का सामना करना पड़ा है। इमरान खान की ओर से ओसामा बिन लादेन को शहीद बताने वाला वीडियो भी सामने आया है।

इमरान ने कहा – पाकिस्तान ने इस लड़ाई में अमेरिका का साथ देकर अपने 70 हजार लोगों को खो दिया। विदेशों में रहने वाले पाकिस्तानियों को शर्मिंदगी झेलनी पड़ी। 2010 के बाद पाकिस्तान में ड्रोन अटैक हुये और सबने सिर्फ निंदा की। ओसामा बिन लादेन की जान अमेरकी सेना ने पाकिस्तान के एबटाबाद में 2 मई 2011 को ली थी। अमेरिकी सुरक्षा बलों ने एक स्पेशल ऑपरेशन के जरिये उसे पाकिस्तान में घुसकर खत्म किया था। लादेन अमेरिका के वर्ल्ड ट्रेड सेंटर केस का दोषी था। लादेन के शव को समुद्र में दफना दिया गया था।

बता दें कि एक दिन पहले ही अमेरिका के विदेश विभाग ने कहा है कि पाकिस्तान ऐसे लोगों के समूहों के लिए एक सुरक्षित आश्रय स्थल बना हुआ है। विभाग ने कंट्री रिपोर्ट्स 2019 की रिपोर्ट में इस बात का उल्लेख किया है। रिपोर्ट में कहा गया कि पाकिस्तान भारत और अफगानिस्तान को निशाना बनाने वाले समूहों को अपनी जमीन से संचालित करने की अनुमति देता है।
आईएसआई डाइरेक्टर जनरल अहमद शुजा पाशा को लादेन की मौजूदगी का पता था। पाकिस्तान सरकार पर लादेन को पनाह देने के आरोप लगे थे। एबटाबाद में जिस जगह पर लादेन छिपा था, वहां से एक मील से भी कम दूरी पर ही पाकिस्तान का मिलिट्री बेस था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

− four = four