हरसिमरत कौर का इस्तीफा मंजूर, मोदी बोले- सालों सत्ता में रहनेवाले देश के किसानों को भड़का रहे हैं

New delhi : किसान विधेयक के विरोध में भारतीय जनता पार्टी की सहयोगी शिरोमणि अकाली दल की हरसिमरत कौर ने मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया। इस इस्तीफे को स्वीकार करते हुये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कड़ा संदेश दिया है। इसके साथ ही प्रधानमंत्री ने कहा है कि जो सालों साल से देश की सत्ता पर काबिज थे वे ही अब किसानों को भड़का रहे हैं कि उनके लिये कुछ नहीं किया गया। वे अपनी जवाबदेही से भाग रहे हैं। जबकि संसद में पास हुये ऐतिहासिक बिलों से किसानों को सुरक्षा मिलेगी।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा- किसान सब जानते हैं। वे देख सकते हैं कि बिचौलियों का साथ कौन दे रहा है। हमारी सरकार किसानों को उनकी उपज का सही मूल्य दिलवाने के लिये कमिटेड है। हमारी सरकार ने पिछले 6 सालों में किसानों के लिये जितना काम किया, उतना किसी और सरकार ने नहीं किया। मैं देशभर के किसानों को इन विधेयकों के लिये बहुत बधाई देता हूं। किसान और ग्राहक के बीच जो बिचौलिये होते हैं, जो किसानों की कमाई का बड़ा हिस्सा खुद ले लेते हैं, उनसे बचाने के लिये ये विधेयक लाये जाने बहुत आवश्यक थे।
मोदी ने कहा- किसानों को अपनी उपज देश में कहीं पर भी, किसी को भी बेचने की आजादी देना, बहुत ऐतिहासिक कदम है। 21वीं सदी में भारत का किसान, बंधनों में नहीं, खुलकर खेती करेगा, जहां मन करेगा अपनी उपज बेचेगा। बहरहाल संसद से फार्मर्स प्रोड्यूस ट्रेड एंड कॉमर्स (प्रमोशन एंड फेसिलिटेशन) बिल, फार्मर्स (एम्पावरमेंट एंड प्रोटेक्शन) एग्रीमेंट ऑफ प्राइस एश्योरेंस एंड फार्म सर्विसेज बिल, एसेंशियल कमोडिटीज (अमेंडमेंट) बिल पास हुये हैं।

हालांकि जितना विरोध विपक्षी दल कर रहे हैं उतना ही विरोध भाजपा गठबंधन दलों के बीच भी है। शिरोमणि अकाली दल की नेता हरसिमरत कौर ने मंत्रिमंडल से इस्तीफा भी दे दिया। अब कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर मिनिस्ट्री ऑफ फूड प्रोसेसिंग इंडस्ट्रीज की जिम्मेदारी भी संभालेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fifty seven − = fifty three