गुदड़ी का लाल : दिहाड़ी मजदूर के बेटे को पूरे बिहार में चौथा स्थान आया, कहा- आईएएस ही बनूंगा

New Delhi : बिहार के औरंगाबाद जिले के दाउदनगर पटवा टोली निवासी गोपाल प्रसाद के बेटे मुन्ना कुमार ने मैट्रिक परीक्षा में राज्य भर में चौथा स्थान लाया है। मुन्ना को कुल 477 अंक मिले हैं। मुन्ना के पिता मजदूरी करते हैं। मुन्ना ने रिजल्ट के बाद कहा- वे आगे की पढ़ाई कर आईएएस बनना चाहते हैं। पढ़ाई के दौरान कोचिंग जाता था। रोजाना 8 घंटे सेल्फ स्टडी करता था। मुन्ना की सफलता पर पिता गोपाल प्रसाद काफी खुश हैं। मुन्ना छह भाई बहनों में सबसे छोटा है। मुन्ना अपने घर में इकलौता है जिसने पढ़ाई की है। इनके सभी भाई मात्रा 5वीं तक ही पढ़ें हैं।

भाई मनोज, योगेंद्र और विनय तीनों मजदूरी करते हैं। बहन चंद्रावती और मलती घर का काम संभालती है। मां नगवा देवी भी मजदूरी करती हैं। मुन्ना ने सफलता का श्रेय अपने माता-पिता, भाई बहन के अलावा शिक्षकों को दिया है। इधर बिहार बोर्ड के स्टेट टॉपर हिमांशु राज रोहतास जिले के दिनारा प्रखंड के तेनुअज पंचायत के नटवार कला गांव के निवासी हैं। हिमांशु राज के पिता सुभाष सिंह सब्जी बेचकर अपने परिवार का भरण पोषण करते हैं। माता मंजू देवी कुशल गृहिणी हैं। हिमांशु की इच्छा ऊंची उड़ान भरने की है। परिवार की आर्थिक परेशानी को देखते हुए उन्होंने कहा- फिलहाल तो टार्गेट सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने का है। दूसरे स्थान हासिल करनेवाले दुर्गेश कुमार एक किसान के बेटे हैं।
उजियारपुर थाना क्षेत्र के बिदुलिया गांव के रहने वाले दुर्गेश ने समस्तीपुर के जितवारपुर स्थित श्रीकृष्णा हाई स्कूल से मैट्रिक की परीक्षा दी थी। किसान जयकिशोर सिंह के बेटे दुर्गेश ने कहा – उनकी सफलता के पीछे उसके माता पिता का योगदान महत्वपूर्ण है। मां-पिता की प्रेरणा से ही उन्हें इतनी बड़ी सफलता मिली है। दुर्गेश चार भाई बहनों में सबसे छोटे हैं। दुर्गेश के पिता खेतीबारी कर अपने परिवार का भरण पोषण करते हैं। दुर्गेश ने बताया कि आईआईटी कर एक कुशल इंजीनियर बनना है।

बिहार बोर्ड मैट्रिक 2020 का रिजल्ट जारी हो गया है। हिमांशु राज (रोल नंबर-2000479) ने 481 अंक (96.20%) प्राप्त करके राज्य में पहला स्थान प्राप्त किया है। वह रोहतास जिले के जनता हाई स्कूल तनौज के विद्यार्थी हैं। समस्तीपुर के दुर्गेश कुमार 480 अंकों के साथ राज्य में दूसरे स्थान पर हैं। वह एसके हाई स्कूल जितवारपुर के छात्र हैं। तीसरे स्थान पर भोजपुर के श्री हरखेन कुमार जैन ज्ञान स्थली आरा के छात्र शुभम कुमार हैं। उन्हें 478 अंक मिले हैं।
बिहार बोर्ड में इस बार 14 लाख 94 हजार 71 विद्यार्थी सम्मलित हुए थे। इनमें से 7 लाख 29 हजार 213 छात्राएं थीं। इस बार कुल 80.59% विद्यार्थी पास हुए हैं। इनमें से 4,03,392 विद्यार्थी प्रथम श्रेणी में, 524217 सेकेंड डिवीजन से और 2,75,402 थर्ड डिवीजन से पास हुए हैं। कुछ 12 लाख 2 हजार, 30 विद्यार्थी पास हुए हैं। औरंगाबाद के पटेल हाई स्कूल दौड़नगर के राजवीर और अरवल के बालिका हाई स्कूल की जूली कुमारी को भी 478 अंक आये हैं।

लखीसराय के हाई स्कूल अमारपुर के सन्नू कुमार, औरंगाबाद के अशोक हाई स्कूल दौड़नगर के मुन्ना कुमार और औरंगाबाद के पटेल हाई स्कूल दौड़नगर के नवनीत कुमार को 477 अंक मिले हैं। रोहतास के एनएसएस हाई स्कूल निशान नगर बद्दी के रणजीत कुमार गुप्ता को 476 और अररिया हाई स्कूल के अंकित राज, सहरसा के हाई स्कूल चैनपुर पारारी के स्तुति मिश्रा,
सीतामढ़ी के जगेश्वर हाई स्कूल भूताही के अंशुमान कुमार को 475 अंक मिले हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

seventy three − = 66