वित्त मंत्री बोलीं – कर्ज़ के राइट ऑफ का क्या अर्थ होता है राहुल गांधी डॉ. मनमोहन सिंह से समझ लें

New Delhi : देश के 50 बड़े पूंजीपतियों के 68,000 करोड़ से अधिक का कर्ज राइट ऑफ (write off) करने का मामला गर्म हो गया है। बैंकों का कर्ज नहीं लौटाने वाले जिन 50 बड़े कर्जदारों और भगोड़ों का कर्ज माफ किया गया है, उन्हें लेकर कांग्रेस नेता Rahul Gandhi ने मोदी सरकार पर हमला बोला। जिसके बाद वित्तमंत्री Nirmala Sitharaman ने जवाब दिया है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मोदी सरकार के खिलाफ कांग्रेस द्वारा लगाए गए आरोपों पर कहा कि उनकी सरकार ने डिफॉल्टर्स के खिलाफ एक्शन लेकर काफी पैसों की वसूली की है। इसके लिए वित्त मंत्री ने मेहुल चोकसी, नीरव मोदी से लेकर विजय माल्या तक का पूरा हिसाब अपने ट्वीट में दिया है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा है कि उम्मीद है कि राहुल गांधी write off का मतलब मनमोहन सिंह से समझ लेंगे।

मंगलवार की देर रात कुछ ट्वीट कर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सरकार पर लगे आरोपों पर जवाब दिया और कहा कि राहुल गांधी और रणदीप सुरजेवाला देश के लोगों को गुमराह कर रहे हैं। निर्मला सीतारमण ने मेहुल चोकसी केस के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि सरकार ने बड़ा ऐक्शन लेते हुए भगोड़े हीरा व्यापारी नीरव मोदी की करीब 2387 करोड़ रुपये (1898 करोड़ जब्त और 489.75 करोड़ सीज) की चल-अचल संपत्ति को भी सरकार ने जब्त या सीज किया है। इसमें 961.47 करोड़ की विदेशी संपत्ति भी शामिल है। वित्तमंत्री ने कहा कि नीरव मोदी फिलहाल यूके की एक जेल में है।
मेहुल चोकसी को लेकर वित्त मंत्री ने आगे कहा कि चोकसी की 1936 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति को जब्त किया है, जिनमें 67.9 करोड़ रुपये की विदेशी संपत्ति भी शामिल है। इसके अलावा 597.75 करोड़ की प्रॉपर्टी को सीज करते हुए मेहुल चोकसी के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस भी जारी किया जा चुका है। इसके अलावा, मेहुल चोकसी के प्रत्यर्पण के लिए एंटीगुआ को एक अर्जी भेजी जा चुकी है और उसे भगोड़ा घोषित करने की प्रक्रिया भी जारी है।

मेहुल चोकसी की कंपनी गीतांजलि जेम्स लिमिटेड का 5,492 करोड़ का कर्ज माफ किया गया है। हीरा कारोबारी जतिन मेहता की कंपनी विन्सम डायमंड एंड ज्वेलरी का 4,076 करोड़ रुपए का कर्ज माफ किया गया।

उद्योगपति विजय माल्या पर भी की गई कार्रवाई की जानकारी देते हुए निर्मला सीतारमण ने एक अन्य ट्वीट में बताया कि अब तक विजय माल्या की करीब 8040 करोड़ रुपये की संपत्ति को अटैच और 1693 करोड़ सीज किया गया है। विजय माल्या को भगोड़ा घोषित करते हुए प्रत्यर्पण की अर्जी दी गई है। उन्होंने एक और ट्वीट में कहा कि यह मोदी सरकार ही है, जिसने ऐसे विलफुल डिफॉल्टर्स पर एक्शन शुरू किया है। हमारी सरकार ने 9967 रिकवरी सूट और 3515 एफआईआर दर्ज किए हैं। इसके अलावा, नीरव मोदी, मेहुल चोकसी और विजय माल्या के मामलों में करीब 18332 करोड़ रुपये की संपत्ति अटैच या सीज की जा चुकी है।
वित्त मंत्री ने कांग्रेस और राहुल गांधी पर हमला बोला और कहा कि इस बात पर उन्हें आत्मचिंतन करने की जरूरत है कि वह अपने कार्यकाल में सिस्टम की सफाई का काम क्यों नहीं कर पाए। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि कांग्रेस ने सत्ता और विपक्ष दोनों तरफ रहते हुए भ्रष्टाचार खत्म करने की कोई प्रतिबद्धता नहीं दिखाई। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि उन्होंने सरकार से बैंक घोटालेबाजों के नाम पूछे थे लेकिन संसद में इन कर्जदारों के नाम छिपाए गये हैं। राहुल ने ट्वीट किया – संसद में मैंने एक सीधा सा प्रश्न पूछा था- मुझे देश के 50 सबसे बड़े बैंक चोरों के नाम बताइए। वित्तमंत्री ने जवाब देने से मना कर दिया। अब रिजर्व बैंक ने नीरव मोदी, मेहुल चोकसी सहित भाजपा के ‘मित्रों’ के नाम बैंक चोरों की लिस्ट में डाले हैं। इसीलिए संसद में इस सच को छुपाया गया।

कानपुर की कंपनी रोटोमक ग्लोबल प्राइवेट लिमिटेड का 2850 करोड़ का कर्ज माफ किया गया।

इससे पहले कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख रणदीपसिंह सुरजेवाला ने मंगलवार को यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि रिजर्व बैंक ने 24 अप्रैल को सूचना के अधिकार-आरटीआई के तहत जानकारी दी है कि बैंकों का कर्ज नहीं लौटाने वाले जिन 50 बड़े कर्जदारों और भगोडों का कर्ज माफ किया गया है उनमें विजय माल्या, नीरव मोदी, मेहुल चौकसी और जतिन मेहता जैसे बड़े घोटालेबाज शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eighty one + = 91