कई राज्यों के सिनेमाघर/मल्टीप्लेक्स बंद होने से संकट में फिल्म इंडस्ट्री, एक महीने में 200 करोड़ का घाटा

New Delhi : Corona Virus संक्रमण के फैलने की आशंकाओं के चलते बॉलीवुड में अफरातफरी मची हुई है। मुंबई सहितMaharashtra के पांच बड़े शहरों नवी मुंबई, थाणे, पुणे, पिंपरी चिंचवाड़, MP के भी सिनेमाघर बंद कर दिए गए हैं। बिहार, दिल्ली, जम्मू, केरल में थिएटरबंदी पहले से है। इन हालात से साफ है कि बाकी राज्य भी अपने यहां सिनेमाघर बंद करेंगे और फिल्मोद्योग परगहरा संकट जाएगा। अगर पूरे मार्च ऐसा चला तो ठीक 31 तारीख के बाद ऐसा नहीं होगा कि 2 अप्रैल से ही लोग सिनेमाघर आनेलगेंगे। उनके दिल से कोरोना का डर दूर होतेहोते एक महीना जाएगा। ऐसे में इस उद्याेग पर दूरगामी प्रभाव पड़ेंगे।

सूर्यवंशीऔर ‘83’ दोनों की रिलीज डेट अप्रैल तो छोड़िए मई जून तक जाती दिख रही है। वहां ईद रिलीजों का मामला सामने जाएगा तो टकराव तय है। लिहाजा, एक ऐसी सिचुएशन पैदा हो रही है, जहां सारे बड़े स्टार्स और बैनर्स को मिल बैठकर तय करना होगाकि रिलीज डेटों का क्या करना है? जिस तरह जेम्स बॉन्ड सीरिज की फिल्म सीधा नवंबर खिसक गई, ठीक वैसे ही हालात इंडियनफिल्मों के भी बनते नजर रहे हैं।

इस स्थिति से घाटा सभी को हो रहा है। स्टार्स, सुपरस्टार्स कोई नहीं बच रहा। 10 अप्रैल के बाद अमिताभ, जाह्नवी, की बड़ी फिल्मों कालाइन अप रिलीज को तैयार है। मई के पहले वीक मेंकुली नंबर वनऔर आगे फिर अमिताभ बच्चन की हीझुंडहै। फिर आता है 22 मई का वक्त, जबराधेऔर अक्षय कुमार की हीलक्ष्मी बॉम्बरिलीज का वक्त है। उसके बाद फिर पांच जून वाले स्लॉट पर जाह्नवीकपूर कीरूही अफजानाहै। नतीजतन, क्या बड़ा संकट खड़ा होने वाला है, इसका जवाब किसी के पास नहीं है? नुकसान की बात करेंतो तकरीबन 50 करोड़ का घाटा हर हफ्ते हिंदुस्तान के सिनेमाघरों को होने वाला है।

अंग्रेजी मीडियमको तीन से छह करोड़ का नुकसान अकेले दिल्ली शहर से हो रहा है। वहां के मशहूर सिनेचेन डिलाइट के जीएम आरकेमेहरोत्रा ने बताया, ‘हमारे सारे एडवर्टिजमेंट और कंटेंट प्रोवाइडर का मोटा नुकसान हो रहा है। सिनेमा देखने आने वालों का असर मॉलके फुटफॉल पर हो रहा है। गुरूवार से पहले तक अकेले डिलाइट में 80 फीसदी तक ऑक्युपेंसी थी। अंग्रेजी मीडियम पांच शो में रिलीजहोनी थी। हमारी दो सिनेमाघरों की स्क्रीन के लिए 600 टिकटें एडवांस बुक हो चुके थे। इसे आप दिल्ली के 152 स्क्रीन के लिएकैलकुलेट करें तो अकेले दिल्ली शहर से अंग्रेजी मीडियम को तीन करोड़ तक का नुकसान है एक बार में।राजस्थान में शूट हुईअंग्रेजीमीडियमकी होम स्टेट में दोपहर तीन बजे तक महज 15 से 18 पर्सेंट की ऑक्युपेंसी थी। पूरे राजस्थान में 250 से ऊपर स्क्रीन हैं। ट्रेडपंडित राज बंसल कहते हैं, ‘सिनेमाघरों की बंदी टाली जा सकती थी। यहां से ज्यादा भीड़ तो लोकल ट्रेनों, बसों में होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

+ eighteen = twenty two