इतिहास का सबसे बड़ा समुद्री हादसा, जिसमें मर गए थे 9000 लोग

इतिहास का सबसे बड़ा समुद्री हादसा, जिसमें मर गए थे 9000 लोग

By: Madhu Sagar
September 10, 14:09
0
NEW DELHI:

  इतिहास में कई ऐसे समुद्री हादसे दर्ज हैं, जिनके बारे में जानकर हर कोई हैरान हो जाता है। चाहे वो टाइटेनिक जहाज के डूबने की घटना हो या फिर सूनामी का कहर। लेकिन बाल्टिक सागर में एक जहाज के डूबने से 9 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी।आपको जानकर हैरत हो रही होगी, लेकिन बता दें कि विल्हेम गस्टलोफ नाम का एक जर्मन जहाज टाइटैनिक से भी बड़े हादसे का शिकार हुआ था। इस जहाज में सवार लगभग 9343 लोगों की मौत हो गई थी। वहीं, कुछ लोग जहाज से बाहर निकलकर खुद को बचाने की कोशिश करने लगे थे, लेकिन वे भी नाकामयाब रहे। 

दरअसल, बाल्टिक सागर के पानी का टेम्परेचर -18 डिग्री सेल्सियस था। 45 मिनट के अंदर ही ये जहाज समुद्र की गहराई में समा गया। इससे जुड़े किस्से सोशल साइट्स पर वायरल हो रहे हैं।

 दूसरे वर्ल्ड वॉर के दौरान जब जर्मनी और सोवियत संघ की सेना का आमना-सामना हुआ तब जर्मनी और पोलैंड बॉर्डर पर स्थित पोमेरैनिया और प्रुसिया के लगभग 10 हजार लोग अपनी जान बचाने के लिए जबर्दस्ती इस जहाज में सवार हो गए। लेकिन बाल्टिक सागर में सोवियत की तीन पनडुब्बियों ने इस जहाज पर अटैक कर दिया, जिससे 700 फीट लंबा और हजारों टन भारी ये जहाज पलट गया था।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

comments
No Comments