10 यूनिवर्सिटीज की जांच कर रहे UGC पैनल की सलाह, BHU और AMU से हिंदू-मुस्लिम शब्द हटने चाहिए

10 यूनिवर्सिटीज की जांच कर रहे UGC पैनल की सलाह, BHU और AMU से हिंदू-मुस्लिम शब्द हटने चाहिए

By: Aryan Paul
October 09, 15:10
0
New Delhi:

UGC पैनल ने केंद्रीय यूनिवर्सिटीज मामले पर अपनी राय जाहिर करते हुए कहा कि केंद्रीय यूनिवर्सिटी पर किसी भी तरह के धर्म का ठप्पा नहीं लगना चाहिए। पढ़ाई के मामलों में धर्म का जिक्र ठीक नहीं है। UGC ने सलाह दी है कि BHU से H यानि हिंदू हटाकर सिर्फ इसका नाम बनारस यूनिवर्सिटी रखना चाहिए, तो दूसरी तरफ AMU से M हटाकर इसका नाम अलीगढ़ यूनिवर्सिटी रखना चाहिए ।

पैनल का कहना है कि दोनों ही सेंट्रल यूनिवर्सिटीज है, लिहाजा उनके नाम धर्मनिरपेक्षता को प्रदर्शित नहीं करते । लिहाजा किसी भी यूनिवर्सिटीज के नाम में धर्म का जिक्र होना शिक्षा के उद्देश्य को पूरा नहीं करता । इन नामों के वजह से भी छात्रों के अपने लक्ष्य से भटकने की संभावना है और से नाम संविधान के नियमों के विपरीत हैं। दरअसल पैनल HRD मिनिस्ट्री द्वारा सेंट्रल यूनिवर्सिटीज में वित्तीय धोखाधड़ी मामलों की जांच कर रहा है। जिसमें देश की 10 सेंट्रल यूनिवर्सिटीज में वित्तीय धोखाधड़ी और प्रशासनिक लापरवाही की बात सामने आई है।

पैनल का कहना है कि BHU और AMU के नामों से H और M हटा दिया जाए, या फिर दोनों के नाम उनके संस्थापकों के नाम पर रख दिए जाने चाहिए। जैसे- मदन मोहन मालवीय यूनिवर्सिटी और सर सैय्यद अहमद खान यूनिवर्सिटी । उनका कहना है कि केंद्रीय फंड से संचालित यूनिवर्सिटीज को सेक्युलर होना चाहिए और ये तभी हो सकता है। जब इनके नामों से धार्मिक पहचान हटा दी जाए ।

AMU को लेकर UGC ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि AMU में नियमों का उल्लंघन किया जा रहा है, क्योंकि यहां प्रोफेसर खुद से ही पैदा किए जा रहे हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि कई पहले के छात्रों को ही यहां पर प्रोफेसर नियुक्त किया गया है। जो कि यूनिवर्सिटीज के नियमों के खिलाफ है। बता दें कि यह पैनल इन दोनों के साथ-साथ इलाहाबाद यूनिवर्सिटी, झारंखड, राजस्थान, जम्मू, त्रिपुरा यूनिवर्सिटी के साथ-साथ और भी कई यूनिवर्सिटीज की जांच कर रहा है।   

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।