धर्म परिवर्तन कर दोनों बने मुस्लिम, बेटा बना जिहादी, मां महिलाओं को भेजती थी सीरिया

धर्म परिवर्तन कर दोनों बने मुस्लिम, बेटा बना जिहादी, मां महिलाओं को भेजती थी सीरिया

By: Aryan Paul
October 08, 09:10
0
New Delhi:

जिहाद को समझ पाना अभी भी बड़े-बड़े बुद्धिजीवियों के लिए एक पहेली बना हुआ है। कि कैसे एक आदमी या औरत जिहाद के नाम पर खून बहाने को उतावले रहते हैं, ना सिर्फ दूसरों का खून बहाने को बल्कि अपनों को भी जिहाद के नाम पर मरने के लिए छोड़ देते हैं। ऐसा ही एक मामला दुनिया के सबसे विकसित देशों में गिने जाने वाले फ्रांस से सामने आया है, जहां पर महिला ने जिहाद के समर्थन के लिए अपना निकनेम मामा जिहाद रख लिया है। और बेटे के आतंकी बनने पर उसका कहना है कि वो अब जन्नत में अल्लाह के पास होगा ।

जानकारी के मुताबिक, पेरिस में एक महिला को सीरिया जाकर ISIS का समर्थन करने के लिए 10 साल की सजा सुनाई गई है। महिला पर आरोप है कि वो अपने जिहादी बेटे को समर्थन करने के लिए तीन बार सीरिया गई थी। महिला को आतंकी साजिश का हिस्सा होने के आरोप में 10 साल कैद की सजा सुनाई गई है। 51 वर्षीय क्रिस्टीन रिविरे को जिहाद के प्रति समर्पण के लिए यह सजा दी गई है। क्रिस्टीन पर कई महिलाओं को बरगलाकर सीरिया भेजने और आतंकियों से शादी के लिए तैयार करने का आरोप है। इन आतंकियों में उसका बेटा टेलर विलस भी शामिल है। 

क्रिस्टीन को अधिकतम 10 साल की ही सजा सुनाई जा सकती थी। हाल ही में उसने अपने बेटे के साथ इस्लाम स्वीकार लिया था और अपना निकनेम 'मामा जिहाद' रख लिया था। क्रिस्टीन को 7 साल की सजा काटने के बाद ही पैरोल मिलेगी। माना जाता है कि उसका 27 वर्षीय बेटा टेलर 2012 या 2013 में इस्लामिक स्टेट के आतंकियों के समूह के साथ सीरिया चला गया था। 

2013 और 2014 में तीन बार अपने बेटे के पास सीरिया गई क्रिस्टीन ने इस्लामिक स्टेट के लिए जंग में उतरने की बात से इनकार किया था। लेकिन उसने फेसबुक पर सिर काटने और खुद के एके-47 राइफल लेकर खड़े होने की तस्वीर डाली थी। अपने बेटे को लेकर क्रिस्टीन ने कहा- अगर मेरा बेटा शहीद हो गया होगा, तो अब वह जन्नत में अल्लाह के पास होगा।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।