पैराडाइज पेपर्स के मालिकों में पुतिन के दामाद का नाम, कारोबार में अमेरिकी मंत्री भी शामिल

पैराडाइज पेपर्स के मालिकों में पुतिन के दामाद का नाम, कारोबार में अमेरिकी मंत्री भी शामिल

By: Aryan Paul
November 06, 13:11
0
New Delhi:

पहले पनामा पेपर्स लीक ने भारत समेत दुनियाभर को चौंका दिया था। तो इस बार पैराडाइज पेपर्स ने INDIA के साथ-साथ BRITAIN के भी होश उड़ा दिए हैं। खबर के मुताबिक, BRITISH QUEEN Elizabeth II का भी पैसा पैराडाइज पेपर्स में लगा है। महारानी ने भी विदेशों में टैक्स हैवन कंपनियों में निवेश किया है। ये जानकारी भी सामने आई है कि AMERICA के वाणिज्य मंत्री विल्बर रॉस के पुतिन के करीबियों से जुड़ी कंपनी के साथ भी कारोबारी संबंध हैं।

तो वहीं एक और बड़ा नाम कनाडा पीएम जस्टिन ट्रूडू के वरिष्ठ सलाहकार स्टीफन ब्रॉन्फमैन का भी है। उन्होंने पूर्व सीनेटर लियो कोल्बर के साथ मिलकर विदेशों में टैक्स हैवन में पैसा जमा किया है। उन्होंने करीब 6 करोड़ डॉलर का निवेश कर रखा है। बता दें कि पैराडाइज पेपर्स में 1.34 करोड़ दस्तावेज शामिल हैं, जिनमें दुनिया के कई अमीर और शक्तिशाली लोगों के गुप्त निवेश की जानकारी दी गई है। इसमें 714 भारतीय नागरिकों का नाम भी शामिल है।

इसका खुलासा अमेरिका के खोजी पत्रकारों के अंतरराष्ट्रीय कंसोर्टियम ICIJ द्वारा जारी पैराडाइज पेपर्स से हुआ है। इसी संगठन ने पिछले साल पनामा पेपर्स का खुलासा किया था जिसने दुनियाभर की राजनीति में तूफान पैदा किया था। हालांकि इन खुलासों से ऐसे संकेत नहीं मिले हैं कि रॉस, ब्रान्फमैन या महारानी की निजी कंपनी ने गैरकानूनी रूप से निवेश किया।

इन दस्तावेजों के अनुसार, अरबपति निवेशक रॉस की नेविगेटर होल्डिंग्स में 31 फीसदी हिस्सेदारी है। इस कंपनी की रूस की ऊर्जा क्षेत्र की बड़ी कंपनी सिबर से साझेदारी है। इसका आंशिक तौर पर मालिकाना हक पुतिन के दामाद और उनके दोस्त के पास है। पैराडाइज पेपर्स से यह भी पता चला है कि महारानी की करीब एक करोड़ 30 लाख डॉलर की निजी धनराशि को केमैन द्वीप और बरमुडा में निवेश किया गया। पेपर्स में कानून कंपनी एप्पलबाय के मेन 1.34 करोड़ दस्तावेज हैं। 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।