यरुशलम विवाद: ट्रंप को बड़ा झटका, 128 देशों ने US के खिलाफ किया वोट, भारत भी फिलिस्तीन के साथ

यरुशलम विवाद: ट्रंप को बड़ा झटका, 128 देशों ने US के खिलाफ किया वोट, भारत भी फिलिस्तीन के साथ

By: Aryan Paul
December 22, 08:12
0
New Delhi: Jerusalem पर अमेरिका को बड़ा झटका लगा है, क्योंकि 128 देशों ने UN में अमेरिका के खिलाफ वीटो किया है। यह वीटो Jerusalem को Israel की कैपिटल बनाने के खिलाफ किया गया है, जिसमें भारत भी शामिल है।

संयुक्त राष्ट्र में डोनाल्ड ट्रंप के फैसले के खिलाफ प्रस्ताव पास हो गया है। सिर्फ 9 देशों ने अमेरिका के समर्थन में वीटो किया। लिहाजा अब ट्रंप को अपना रुख बदलना होगा। हालांकि इस पूरे मामले में भारत ने लास्ट तक सस्पेंस बनाए रखा। साथ ही बता दें कि संयुक्त राष्ट्र में मतदान से पहले ट्रंप ने चेतावनी दी थी कि जो भी देश प्रस्ताव का पक्ष लेंगे, अमेरिका उस देश को दी जाने वाली आर्थिक मदद में कटौती कर देगा

महमूद अब्बास

हालांकि ट्रंप की चेतावनी का वोटिंग में कोई असर नहीं दिखा ट्रंप की घुड़की के बावजूद प्रस्ताव के पक्ष में 128 वोट पड़े। सिर्फ 9 देशों ने ही प्रस्ताव का विरोध किया, जिनमें ग्वाटेमाला, होंडुरास, इजरायल, मार्शल आइलैंड्स, माइक्रोनेशिया, पलाउ, टोगो और अमेरिका ही हैं।

UN

साथ ही बता दें कि इस पूरे मामले में 35 देशों ने दूरी बनाए रखी। इधर मतदान के फौरन बाद अमेरिका का गुस्सा भी नजर आया । ट्रंप ने देशों को आर्थिक नतीजे भुगतने की धमकी दी और कहा कि अमेरिका से ऐसे देशों को आर्थिक मदद नहीं दी जाएगी।

निक्की हेले

तो वहीं दूसरी और संयुक्त राष्ट्र में अमेरिकी राजदूत निकी हैले ने फैसले की आलोचना करते हुए कहा कि अमेरिका इस दिन को याद रखेगा। हैले का कहना कि एक संप्रभु देश के तौर पर अपने अधिकारों का इस्तेमाल करने की वजह से संयुक्त राष्ट्र महासभा में उस पर हमला हुआ है।

ये है भारत में ताजमहल से भी पुरानी प्रेम निशानी,जो मुगलों ने नहीं हिंदू सम्राट ने बनवाई थी

UN

अमेरिका का कहना है कि येरूशलम में वो अपना दूतावास खोलेगा। बता दें कि येरूशलम को इजरायल की राजधानी के बनाने के फैसले के बाद से ही अरब जगत भड़का हुआ है। अरब देशों के साथ ही कई देशों ने इसका खुलकर विरोध किया था। इस फैसले के चलते कई दिनों तक फलस्तीन में हिंसा फैल गई थी। कश्मीर में भी इस फैसले के विरोध में प्रदर्शन किया गया था।

सपने में दिख जाए बस ये 1 चीज, रातोंरात धन से भर जाएगी आपकी तिजोरी


UN

ट्रंप के फैसले के बाद संयुक्त राष्ट्र के 15 सदस्यों ने आपात बैठक करते हुए इस मुद्दे पर विचार विमर्श किया था। 5 यूरोपीय देशों ने अपने संयुक्त बयान में कहा कि येरूशलम को लेकर पहले इजराइल और फिलिस्तीन में बात होनी चाहिए, उसके बाद ही किसी नतीजे पर पहुंचना चाहिए। 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।