दिल मिले न मिले, हाथ मिलाते रहिये : पायलट से मिल गहलोत का भावुक बयान- अपने तो अपने होते हैं

New Delhi : विधानसभा सत्र की रणनीति को लेकर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अगुआई में विधायक दल की बैठक हुई। बैठक में 20 जून के बाद पहली बार अशोक गहलोत और सचिन पायलट की मुलाकात हुई। बैठक में राजस्थान के सीएम गहलोत भावुक हो गये। विधायकों की नाराजगी पर कहा – जो हुआ भुला दो। अपने तो अपने होते हैं। हम इन 19 विधायकों के बिना भी बहुमत साबित कर देते, पर खुशी नहीं मिलती। सरकार ने विधानसभा के शुक्रवार 14 अगस्त से शुरू हो रहे सत्र में विश्वास प्रस्ताव लाने का फैसला किया है।

विधायक दल की बैठक में मुख्यमंत्री गहलोत ने विधायकों से अब तक हुई बातों को भूलकर आगे बढ़ने को कहा। वहीं, विधायक दल की बैठक के बाद के. सी. वेणुगोपाल ने कहा – सबकुछ अच्छे से हो गया। अब कांग्रेस परिवार एक साथ है, हम मिलकर भाजपा की गंदी राजनीति के खिलाफ लड़ेंगे। विधानसभा में कांग्रेस पार्टी एकजुटता से खड़ी होगी।
राजस्थान में लगभग एक महीने से जारी राजनीतिक घटनाक्रम के बीच विधानसभा का सत्र 14 अगस्त से शुरू हो रहा है। कांग्रेस विधायक विश्वेंद्र सिंह ने कहा- कांग्रेस एकजुट है। मुख्यमंत्री कांग्रेस विधायक दल के नेता हैं और सब उनका सम्मान करते हैं। अगर भाजपा चाहती हो तो वो अविश्वास प्रस्ताव ला सकती है ये उनका काम है। एक महीने तक हमने जो भी सुना और सहा वो आपके सामने है, लेकिन हम लोग अपनी मर्यादा में रहे। मैं स्पष्ट करना चाहता हूं, मैं पहले भी कांग्रेस में था जब कांग्रेस से हटाया गया तब भी और आज भी कांग्रेस में हूं और आगे भी कांग्रेस में रहूंगा।
भाजपा द्वारा सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाये जाने की घोषणा के बीच विधानसभा का यह सत्र काफी हंगामेदार हो सकता है। भाजपा और उसके घटक दल ने भी आज बैठक की। बैठक के बाद नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया ने कहा – विधानसभा के शुक्रवार से शुरू हो रहे सत्र में अविश्वास प्रस्ताव लाया जायेगा। हम अपनी तरफ से अविश्वास प्रस्ताव लेकर आ रहे हैं। हमने अपने प्रस्ताव में उन सारे बिंदुओं को लिया है जो आज राजस्थान में ज्वलंत हैं।

कांग्रेस ने अपने दो विधायकों विश्वेंद्र सिंह तथा भंवरलाल शर्मा का निलंबन रद्द किया, लेकिन दिन की सबसे महत्वपूर्ण घटना पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट की मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मुलाकात रही। लगभग एक महीने की सियासी खींचतान का एक तरह से पटाक्षेप करते हुए दोनों नेता मुख्यमंत्री निवास में मिले।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eighty − = 76