पूर्वोत्तर के अलगाववादी संगठनों का एलान- नहीं मनाएंगे 70वां भारतीय स्वतंत्रता दिवस

पूर्वोत्तर के अलगाववादी संगठनों का एलान- नहीं मनाएंगे 70वां भारतीय स्वतंत्रता दिवस

By: Aryan Paul
August 13, 10:08
0
New Delhi:

GUWAHATI: असम, मणिपुर और मेघालय के अलगावादी संगठनों ने इस साल भारतीय स्वतंत्रता दिवस का बहिष्कार करने का फैसला लिया है । डोकलाम विवाद को लेकर अलगाववादी संगठनों ने अपनी नाराज़गी जाहिर की है । 

दरअसल आपको बता दें कि पूर्वोत्तर के कई गुट जो अपने को प्रो-चीनी मानते है मतलब खदु को चीन का समर्थक बताते हैं । उन्होंने सयुंक्त रूप से एक बयान जारी कर भारतीय स्वतंत्रता दिवस का बहिष्कार करने का फैसला लिया है । उन्होंने कहा डोकलाम विवाद के कारण वे निराश हैं और इसलिए इस बार उन्होंने स्वतंत्रता दिवस नहीं मनाने का फैसला लिया है । पूर्वोत्तर के अलगाववादी संगठन NSCN खापलांग ने अलग से पिछले सप्ताह स्वतंत्रता दिवस के बहिष्कार को लेकर बैठक बुलाई थी ।

तीन राज्यों के अलगाववादी संगठनों के संयुक्त बयान में कहा गया है कि इस साल पीएम मोदी के नेतृत्व में भारत अपना 70वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा है और लगातार भारत दुनिया की आंख में आंख मिलाते हुए अपने सैनिक और हथियारों का प्रदर्शन भी कर रहा है। उन्होंने चीन की आर्मी की तारीफ करते हुए कहा कि 30 जुलाई 2017 को चीन की आर्मी द्वारा अपनी 90 वीं वर्षगांठ मनाई गई, जो वास्तव में बहुत प्रभावशाली थी। और वे लोग डोक ला और डांगलाम जो इंटरनेशनल बॉर्डर पर चीन से सटे हुए हैं वहां की स्थिति को लेकर ज्यादा नाराज हैं । 

उन्होंने कहा- पड़ोसी देश चीन को लेकर अब भारत की नीति ज्यादा खुली है, क्योंकि डोकलाम विवाद पर भारतीय विशेषज्ञों ने अपनी कमजोरी स्थिति को दुनिया के सामने उजागर कर दिया है । साथ ही उन्होंने NDA सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा- सरकार एक देश, एक कल्चर, एक लोग जैसी नीति अपनाकर पूरे देश में भगवा को बढ़ावा देना चाहती है और हमारे कल्चर को खत्म करने की कोशिश कर रही है ।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

comments
No Comments