दुर्गापूजा-छठ में करो तैयारी गांव-घर जाने की- 392 फेस्टिवल स्पेशल ट्रेन चलाने की घोषणा से राहत

New Delhi : फिस्टवल सीजन को देखते हुये भारतीय रेलवे ने 196 जोड़े यानी 392 स्पेशल ट्रेनें चलाने का निर्णय लिया है। इन स्पेशल ट्रेनों का संचलान 20 अक्टूबर से 30 नवंबर तक के सीमित अवधि के लिये चलाई जायेंगी। इस दौरान दशहरा, दीपावली, छठ और अन्य त्यौहारों में अपने-अपने घरों को जाने के लिये परेशान लोगों को बेहद राहत मिली है। अब आसानी से लोगों को अपने अपने गंतव्य तक आनेजाने की रेलवे टिकटें मिल सकती हैं। अभी तक लोगों के सामने यह बड़ी समस्या आ रही थी कि ट्रेनों में फुल बुकिंग थी और लोगों को आनेजाने का कोई रास्ता नहीं सूझ रहा था। सबसे बड़ी समस्या छठ के लिये घर जानेवाले लोगों के सामने थी।

भारतीय रेलवे लॉकडाउन के बाद 12 मई से अभी तक लगभग 550 स्पेशल ट्रेनें चल रही हैं। रेलवे ज्यादा ट्रेनें नहीं चला रही हैं। लेकिन इस फेस्टिव सीजन में रेलवे ने आम लोगों की समस्या को पहले ही भांप लिया है। रेलवे ने 20 अक्टूबर से फेस्टिव ट्रेनों का संचालन चालीस दिनों तक करने का निर्णय लिया है। इस दौरान दशहरा, दुर्गापूजा, दीपावली और छठ जैसे महत्वपूर्ण पर्व कवर हो जायेंगे। आने-जाने की प्रक्रिया इस दौरान आराम से पूरी की जा सकती है।
इस सूची में उन ट्रेनों के नाम भी शामिल हैं जो रोज चलाये जायेंगे। जबकि हफ्ते में चार बार, हफ्ते में एक बार चलने वाली ट्रेनें भी इस लिस्ट में शामिल होंगी। रेलवे ने इनका किराया स्पेशल ट्रेनों के बराबर ही रखा है। यानी लोगों को ट्रेन किराये में कोई राहत नहीं मिलनेवाली है। रेलवे अफसरों का कहना है कि चूंकि ये सभी ट्रेनें सुपरफास्ट ट्रेनें होंगी, इसलिये इनकी स्पीड कम से कम 55 किमी प्रति घंटे होगी। वहीं, इन ट्रेनों का किराया मेल/एक्सप्रेस ट्रेनों के मुकाबले 10% से 30% तक ज्यादा होगा। इस सूची में नई दिल्ली से चलनेवाली कई शताब्दी और सुपरफास्ट ट्रेनों के नाम भी शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

sixty + = sixty one