दिलबर का दोनों हाथ काटकर जला दिया था जिंदा, अब पुलिस के हत्थे चढ़ा कातिल शहनवाज

New Delhi : दिल्ली हिंसा में एक बेहद विभत्स घटना का आरोपी शहनवाज़ गिरफ़्तार कर लिया गया है. शहनवाज़ और उसके दंगाई साथियों ने उत्तराखंड के रहने वाले दिलबर सिंह नेगी की हत्या बेहद विभत्स तरीक़े से की थी. पहले उसका हाथ काट दिया और फिर उसे ही उसी हालत में ज़िंदा जला डाला. दिलबर मिठाई दुकान में काम करते थे. शहनवाज़ दंगाइयों का नेता था.

ग़ौरतलब है कि दिल्ली हिंसा में अब तक 53 लोगों की मौत हो चुकी है. दर्जनों घायल अभी भी अस्पताल में भर्ती हैं. दिल्ली पुलिस ने हिंसा की जांच के लिए दो SIT का गठन किया है. अभी तक 683 केस दर्ज किए गए हैं. 1983 लोगों को गिरफ्तार या फिर हिरासत में लिया गया है. दिल्ली में हुई हिंसा में एक शख्स को जलाकर मारने के मामले में मुख्य आरोपी को भी गिरफ्तार कर लिया गया है. गिरफ्त में आए आरोपी का नाम शाहनवाज उर्फ शानू (27) है. पुलिस उससे पूछताछ कर रही है.
दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने उत्तरी पूर्वी दिल्ली में दंगों के दौरान उत्तराखंड के रहने वाले दिलबर सिंह नेगी की हत्या के मामले में मुख्य आरोपी शाहनवाज को गिरफ्तार कर लिया है. दिलबर शिव विहार इलाके में स्थित अनिल स्वीट हाउस में काम करते थे और उनका शव बुरी तरह जली हुई हालत में दुकान के अंदर ही बरामद हुआ था.
क्राइम ब्रांच के अधिकारियों के मुताबिक, 24 फरवरी को जब शिव विहार तिराहा के पास दंगे शुरू हुए तो उसी इलाके के रहने वाले शाहनवाज और कई लोगों में मिलकर पथराव किया और कई दुकानों में तोड़फोड़ कर आग लगा दी. शाहनवाज अपने साथियों के साथ एक बुक स्टोर और एक मिठाई की दुकान के अंदर घुसा और दोनों जगहों पर आग लगा दी.
अधिकारियों ने बताया कि 26 फरवरी को मिठाई की दुकान के अंदर एक शख्स का शव इतनी बुरी तरह जली हुई हालत में मिला कि जले हुए सामान के बीच में केवल उसका जला हुआ हाथ नजर आ रहा था. उसके साथ इतनी हैवानियत की गई थी कि उसके दोनों हाथों को काट दिया गया था. जांच के बाद शाहनवाज को गिरफ्तार कर लिया गया. चश्मदीदों ने पुलिस को बताया कि लोगों को सबसे ज्यादा शाहनवाज ही भड़का रहा था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

twenty eight − twenty five =