धर्मेन्द्र बोले – बैंगन, टमाटर, गिल्खी सब तौलता हूं…खेत में काम करके सब्जियां उगाने में मजा आता है

New Delhi : कोरोना आपदा और लॉकडाउन के दौरान वेटरन एक्टर Dharmendra मुंबई के करीब स्थित अपने फार्महाउस में रह रहे थे। 84 साल के धर्मेंद्र सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव हैं। इन दिनों अपनी रुटीन लाइफ से जुड़े हर अपडेट्स नियमित रूप से सोशल मीडिया पर शेयर कर रहे हैं। उन्होंने कई वीडियो इंस्टाग्राम और ट्विटर पर शेयर किये, जिसमें वे एकबार फिर अपने फार्महाउस पर उगी सब्जियां दिखाते नजर आये। इधर हाल के दिनों में वे लगातार अपने बीते हुये दौर को याद कर रहे हैं। पुरानी फिल्मों के सीन और गाने शेयर कर रहे हैं।

धर्मेन्द्र ने एक वीडियो मैसेज भी ट्वीट किया। इसमें उन्होंने कहा- रूह ने रोका, मन ने मना लिया… उठा पैरों से, कम्बख्त को सीने से लगा लिया। दोस्तों जहां रूह सहमत नहीं, वहां उसकी रहमत नहीं। अपना समझ कर सबको आपबीती सुना रहा हूं। धोखेबाजों से बचो। कोरोना से बचो। उन्होंने अपना दर्द और अपनी तकलीफ बयां की है, लेकिन ये क्या है और किसके लिये है यह साफ नहीं हो रहा है। ऐसा लगता है कि धर्मेंद्र किसी की धोखेबाजी से परेशान हैं।

इधर सब्जी के वीडियो को शेयर करते हुए उन्होंने अप्रैल में भीषण लॉकडाउन के दौर में लिखा था – Small scale with passion , takes you to big scale with blessings. Take care,love you all#लॉकडाउनलाइफ #लॉकडाउन #लॉकडाउन2020’। शेयर किए वीडियो में वे कहते हैं – दोस्तों ब्रोकली भी होने लगी है, साइज देखो, क्या साइज है। बैंगन, टमाटर, गिल्खी, टमाटर सबको तराजू पर तौलता हूं कि आज कितनी सब्जी हुई है। खुशी होती है, जितनी ज्यादा बढ़ा सकूं, अभी कोरोना ने बंद कर दिया है यहां। तो इसमें ही लगा रहता हूं। खुश रहो, टेक केयर।
इस वीडियो के कुछ दिन पहले भी उन्होंने एक वीडियो शेयर किया था, जिसमें उन्होंने अपने फॉर्महाउस में उगे टमाटर, पत्तागोभी और बैंगन दिखाते हुए कहा था – दूध-सब्जियां सबकुछ तो होता है यहां, कभी-कभी सोचता हूं यहां धर्मेंद्र स्टॉल खोल लूं।

इससे पहले 19 अप्रैल को शेयर किए वीडियो में उन्होंने अपने फॉर्महाउस में उगे केले और चीकू फैंस को दिखाए थे। साथ ही एक अन्य वीडियो में वे खेत जोतते भी नजर आए थे। एक वीडियो में उन्होंने कोरोना को इंसान के बुरे कर्मों का नतीजा भी बताया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

sixty one − 57 =