Video: स्वर्ण मंदिर में लहरती तलवारों ने 3 को किया घायल, विवाद के बाद मिली धार्मिक सजा

Video: स्वर्ण मंदिर में लहरती तलवारों ने 3 को किया घायल, विवाद के बाद मिली धार्मिक सजा

By: Sachin
October 12, 20:10
0
.

New Delhi: अमृतसर के स्वर्ण मंदिर में गुरुवार को सरबत खालसा द्वारा चुने गए जत्थेदारों के समर्थकों तथा एसजीपीसी की टास्क फोर्स के बीच जमकर हंगामा हुआ। स्वर्ण मंदिर में आज खुलेआम तलवारें लहराई गईं। इस हंगामे में तीन सिख प्रतिनिधि घायल हो गए और कई की पगड़ियां तक उतर गईं। 

सरबत खालसा के माध्यम से चुने गए जत्थेदारों द्वारा छोटा घल्लूघारा गुरुद्वारा साहिब के अध्यक्ष को आज अकाल तख्त साहिब पर तलब किया गया था। अकाल तख्त साहिब के कार्यकारी जत्थेदार ध्यान सिंह मंड जब उन्हें पारंपरिक तरीके से अकाल तख्त साहिब से तनखैया करार देने के लिए पहुंचे तो अकाल तख्त साहिब के समक्ष पेश हुए मास्टर जौहल सिंह को शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अधिकारी तथा टास्क फोर्स के कर्मचारी जबरन वहां से उठाकर ले गए और दरबार साहिब परिसर से बाहर फेंक दिया।

 

इसके बाद दरबार साहिब परिसर में जहां श्रद्धालुओं का आवागमन रहता है वहां गरमपंथी संगठनों के कार्यकर्ताओं तथा एसजीपीसी टास्क फोर्स में झड़प हो गई। दोनों तरफ से तलवारें लहराई गई। झड़प में गोपाल सिंह की पगड़ी उतर गई और सतनाम सिंह मनावां व जरनैल सिंह घायल हो गए। इस बीच पुलिस के पहरे में जब मुतवाजी जत्थेदार मास्टर जौहल सिंह को सजा सुनाने लगे तो फिर से तनाव का माहौल पैदा हो गया। 

दोनों तरफ से कृपाण लहराई गईं और एक-दूसरे के विरुद्ध नारेबाजी की गई। हालात बेकाबू हुए तो दरबार साहिब परिसर में पहुंचे श्रद्धालु दर्शनी हाल को छोड़ सुरक्षित स्थानों की तरफ चले गए और बड़ी संख्या में पुलिस बल को तैनात कर दिया गया। पुलिस की मौजूदगी में मुतवाजी जत्थेदार ने मास्टर जौहल सिंह को तनखैया करार देते हुए सात दिन की धार्मिक सजा सुनाई।

सजा की अवधि के दौरान मास्टर जौहल सिंह अलग-अद्वारों में कीर्तन सुनेंगे तथा संगत के जूठे बर्तन व जूते साफ करेंगे। मुतवाजी जत्थेदारों द्वारा सजा सुनाए जाने के बाद मास्टर जौहल सिंह ने उसे सार्वजनिक रूप से स्वीकार कर लिया और कहा कि वह शुक्रवार से ही सचखंड हरिमंदिर साहिब में सजा भुगतने के लिए पहुंचेंगे। इसी दौरान अकाल तख्त साहिब के ध्यान सिंह मंड ने कहा कि शिरोमणि कमेटी अध्यक्ष कृपाल सिंह बडूंगर के इशारों पर यहां जौहल व अन्य लोगों के साथ अभद्र व्यवहार किया गया है।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।