डीजीपी बोले- सुशांत केस में सबूत मिल गये तो रिया को जमीन से भी खोदकर निकाल लेंगे, बंद करे लुका-छिपी का खेल

New Delhi : सुशांत केस मामले में अभी तक मुंबई पुलिस ने जांच के दौरान जब्त सुशांत केस से संबंधित न तो पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट बिहार पुलिस को सौंपा है और न ही सीसीटीवी फुटेज ही उनके हवाले किया है। इसकी वजह से बिहार पुलिस को इस मामले की जांच पड़ताल में भारी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। हालांकि मुम्बई पुलिस ने कुछ भी आधिकारिक रूप से नहीं बताया है लेकिन इतना तय है कि वे नहीं चाहते कि बिहार पुलिस मामले की जांच करे।

अभी मुम्बई पुलिस को सुप्रीम कोर्ट में उस अर्जी पर सुनवाई का इंतजार है जो सुशांत की गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती ने दाखिल की है। इसमें पटना में दर्ज एफआईआर को मुम्बई ट्रांसफर करने की डिमांड की गई है। बहरहाल ट्विटर पर सुशांत केस लगातार ट्रेंड नंबर वन बना हुआ है। पूरे देश का सेंटीमेंट सुशांत और उनके परिजनों को न्याय दिलाने के लिये उमड़ पड़ा है।
बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने रविवार को कहा- अगर बिहार पुलिस को सबूत हाथ लग गये तो रिया चक्रवर्ती चाहे जहां छिप जाये हम उसे खोज निकालेंगे। अभी हमें दोषियों के खिलाफ पुख्ता सबूतों का इंतजार है। आज तक न्यूज चैनल से बात करते हुये उन्होंने कहा- रिया प्राथमिकी में आरोपी हैं और इसी वजह से पटना पुलिस उनकी तलाश कर रही है। लेकिन जिस दिन हमें सबूत मिल गये उस दिन रिया को जमीन से खोदकर भी निकाल लेंगे चाहे वह दुनिया के किसी भी कोने में छुपी हुई हों। रिया को सामने आना चाहिये और इस केस को सुलझाने में हमारी मदद करनी चाहिए। यह लुका छुपी का खेल ठीक नहीं है।

उन्होंने कहा- मुम्बई पुलिस से पोस्टमार्टम रिपोर्ट और सीसीटीवी फुटेज मिलते ही बिहार पुलिस की जांच में और भी तेजी आ जायेगी। बता दें कि जब से बिहार पुलिस मुम्बई पहुंची है तब से रिया चक्रवर्ती और उनके भाई फरार चल रहे हैं। पुलिस को उनका कोई ठिकाना नहीं मिल रहा है। वे बिहार पुलिस को किसी तरह का सपोर्ट करने के लिये तैयार नहीं हैं।

डीजीपी ने शनिवार एक अगस्त को संवाददाताओं से कहा था- हमारी टीम ने शुक्रवार शाम को मुंबई के पुलिस उपायुक्त (अपराध) से मुलाकात की थी। डीसीपी ने सहयोग का आश्वासन दिया था… शुरुआत में कुछ संशय एवं असहयोग था। पांडे ने कहा कि बिहार पुलिसकर्मियों के साथ मुंबई पुलिस के दुर्व्यवहार संबंधी आरोप अफवाहें है। वहां स्थानीय पुलिस ने बिहार पुलिसकर्मियों को उनके गंतव्य तक पहुंचाने में मदद की। बिहार पुलिस जांच के लिए फोरेंसिक साइंस प्रयोगशाला रिपोर्ट, जांच रिपोर्ट, पोस्ट मार्टम रिपोर्ट और प्रासंगिक सीसीटीवी फुटेज चाहती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fifty five − = 45