सिंधु जल समझौते पर अहम बैठक आज , पाक को डर-भारत ने पानी रोका तो भूख-प्यास से मर जाएंगे लोग

सिंधु जल समझौते पर अहम बैठक आज , पाक को डर-भारत ने पानी रोका तो भूख-प्यास से मर जाएंगे लोग

By: Rohit Solanki
September 14, 09:09
0
....

 New Delhi: पाकिस्तान के लिए बड़ी मुसीबत बनकर उभरे सिंधु जल समझौते पर आज भारत और पाकिस्तान के बीच दोबारा बातचीत शुरू होने जा रही है। दरअसल, सिंधु नदी पर किशनगंगा और रातले में भारत की तरफ से बनाए जा रहे डैम के खिलाफ पाकिस्तान ने पिछले साल विश्व बैंक से गुहार लगाई थी। उड़ी हमले के बाद से पाकिस्तान को ये डर सता रहा है कि भारत इन डैम के जरिए पाकिस्तान को मिलने वाला पानी रोक देगा।

वॉशिंगटन स्थित वर्ल्ड बैंक हेडक्वार्टर में आज भारत और पाक के बीच दूसरे दौर की बातचीत होने जा रही है। इससे पहले अगस्त में दोनों पक्षों ने बातचीत की थी। इस बैठक में भारत-पाक अधिकारियों के अलावा विश्व बैंक के आला अधिकारी मौजूद रहे। वर्ल्ड बैंक ने उस वक्त कहा था कि बैठक का माहौल और बातचीत काफी अच्छी रही और जल्द ही हम दूसरे दौर की बातचीत करेंगे।

इस समझौते पर दूसरे दौर की बातचीत सितंबर में शुरू होने वाली थी, लेकिन उससे ठीक पहले उड़ी में आतंकी हमला हो गया और भारत के 19 सैनिक शहीद हो गए। पीएम ने पाकिस्तान को कड़ा संदेश दिया था कि खून और पानी, साथ-साथ नहीं बहने वाले। इसके बाद से यह बातचीत टल गई थी। तभी से पाकिस्तान को पानी रोके जाने का ज्यादा डर भी सताने लगा था।

दरअसल, 1960 में पाकिस्तान और भारत ने सिंधु जल समझौते पर हस्ताक्षर किए थे। समझौते के तहत सिंधु नदी की सहायक नदियों को पूर्वी और पश्चिमी नदियों का नाम दिया गया है। इसमें कहा गया है कि पूर्वी नदियों के पानी का इस्तेमाल भारत करेगा जबकि पश्चिमी नदियों के पानी का इस्तेमाल। हालांकि, भारत को बिजली बनाने और खेती के लिए पश्चिमी नदियों के पानी का इस्तेमाल करने की छूट है। इसी कारण पाकिस्तान को डर सता रहा है कि भारत पश्चिमी नदियों का पानी रोककर उसे भुखमरी की कगार पर पहुंचा सकता है। इसके बाद से पाकिस्तान ने सिंधु समझौते का मुद्दा अंतरराष्ट्रीय मंचों पर उठाकर भारत पर दबाव बनाने की कोशिश की। जिसके बाद भारत में समझौता रद्द करने की मांग उठने लगी थी।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

comments
No Comments