कांगड़ा के इस गांव में खुलेआम नशे का धंधा करती है महिलाएं,पुलिस भी कतराती है यहां जाने से

कांगड़ा के इस गांव में खुलेआम नशे का धंधा करती है महिलाएं,पुलिस भी कतराती है यहां जाने से

By: Madhu Sagar
August 12, 13:08
0
New Delhi:

देश में अभी भी लोग नशे का व्यापार करते है।इसी से जुड़ा एक मामला कांगड़ा के गांव से सामने आया है जहां एक ऐसा गांव है, जहां जमकर नशे का व्यापार होता है और पुलिस भी गांव में जाने से कतराती है। पंजाब से सटे इस गांव छन्नी की आबादी 700 के करीब है। लोगों का कहना है कि रोजगार न होने की वजह से वे नशे का कारोबार करते हैं।

कांगड़ा के नए एसपी रमेश छाजटा ने बताया कि एक साल में छन्नी गांव में 100 लोगों के खिलाफ नशा तस्करी के मामले दर्ज किए हैं। जिसमे 25 महिलाएं भी शामिल हैं।

गांव में हर प्रकार का नशा उपलब्ध है। बच्चों से लेकर बुजुर्ग तक नशे का व्यापार करते हैं।गांव का हाल जाना तो लोगों ने बताया कि रोजगार ना मिलने से लोग इस व्यापार में हैं, यहां तक कि गांव के प्रधान का भी मानना है कि गांव के लोग नशे का व्यापार करते है।

जब मीडिया गांव में गई तो लोगों ने हथियार निकाल लिए। हालांकि जब हमारी टीम ने लोगों को समझाया तो वह शांत हुए और सब ने हथियारों को छुपा दिया। गांव की महिलाओं ने बताया कि इस गांव की 60% महिलाएं विधवा हैं।

उनका परिवार चलाने का कोई भी साधन नहीं है। इस वजह से वे नशा बेचती हैं। गांव की प्रधान का यही कहना है कि यहां के लोगों को रोजगार नहीं मिल पाता, जिसके चलते वह नशे का व्यापार करते हैं। लोग नशे का व्यापार करना छोड़ना चाहते हैं, लेकिन उन्हें कोई रोजगार का साधन नहीं है।

गांव के एक शख्स का कहना है कि लोग नशे के व्यापार को छोड़ना चाहते हैं, लेकिन सरकार को गांव के लोगों की मदद करनी चाहिए और रोजगार उपलब्ध करवाना चाहिए।गांव के युवकों का कहना है कि छन्नी गांव में हर प्रकार का नशा मिल जाता है। नशे के व्यापार को खत्म करना चाहिए। बता दें कि इससे पहले, कांगड़ा में संजीव गांधी एसपी थे। उन्होंने यहां नशा तस्करों के नाक में दम कर दिया था। बाद में उन्हें यहां से बदल दिया गया। लोगों ने उनके तबादले का विरोध भी किया था।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

comments
No Comments