कोरोना पॉजेटिव कांस्टेबल ने वीडियो शेयर कर कहा – बीस बीमार पर बाथरूम एक, न दवाई-न खाना

New Delhi : देश में कोरोना आपदा और त्राससदी के बीच सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ है। यह वीडियो दिल्ली पुलिस के एक कान्स्टेबल ने बनाया है जो कोरोना पॉजेटिव है और आइसोलेशन वार्ड में है। इस वीडियो में कान्स्टेबल बोल रहा है – मेरे फ्लोर पर 20 बेड लगे हुए हैं। सबके लिये सिर्फ एक बाथरूम है। तकिया काला पड़ चुका है। न कोई खाने को पूछ रहा है और न ही किसी को कोई दवा दी जा रही है। खांसी हो, बुखार हो, कुछ भी हो जाये दवाई नहीं मिलेगी। मैं दिल्ली पुलिस में कांस्टेबल था, मुझे कोराना हुआ लेकिन अभी तक मेरे बच्चों और पत्नी का टेस्ट नहीं किया गया है। बोल रहे हैं किसी प्राइवेट हॉस्पिटल से करा लो। यहां नहीं होगी जांच।

दिल्ली पुलिस के कांस्टेबल सचिन तोमर ड्यूटी के दौरान कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे। कांस्टेबल सचिन तोमर की वीडियो वायरल हो गई है। उन्हें कहते सुना जा सकता है कि दिल्ली सरकार की ओर से कोरोना वायरस के मरीजों को कई सुविधा नहीं दी जा रही है। इसके अलावा उन्होंने कहा कि अस्पताल में एक ही कमरे में करीब 20 मरीजों को रखा गया है और इस्तेमाल के लिए एक ही शौचालय है। उन्होंने कहा, मरीजों के लिए न तो साफ तकिए मुहैया कराए जा रहे हैं और न ही अन्य जरूरी सुविधाएं दी जा रही हैं।
वायरल वीडियो में सरकार पर साधा निशाना वायरल वीडियो में सरकार पर भड़कते हुए कांस्टेबल सचिन तोमर ने कहा कि यहां मरीजों को बुखार और गले में दर्द की शिकायतें हैं लेकिन किसी को दवा नहीं दी जा रही है। इसके अलवा मरीजों को गरम पानी भी नहीं दिया जा रहा, सब नॉर्मल पानी पीने को मजबूर हैं। वीडियो में सचिन तोमर कहते हैं कि सरकारी अस्पताल में कोई सुविधा नहीं है। उन्होंने जब प्राइवेट अस्पताल में शिफ्ट किए जाने की मांग की तो सचिन से अपने लिए खुद एंबुलेंस का इंतजाम करने के लिए कहा गया।

एक एक मरीज की हो रही जांच

सचिन कुमार तोमर कोरोना पीड़ित हैं और इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती हैं। उनका यह वीडियो अब सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। सचिन ने अपने वीडियो में दिल्ली सरकार के उन सभी दावों की धज्जियां उड़ाई हैं जिसमें कहा गया था कि मरीजों का अच्छे से ख्याल रखा जा रहा है। अस्पताल में क्वारंटाइन किए गए एक कोरोना पॉजिटिव कांस्टेबल सचिन तोमर ने वीडियो के जरिए सरकार से मदद की मांग करते हुए अस्पताल में बरती जा रही लापरवाहियों की शिकायत की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

twenty six + = thirty four