कोरोना से हालत हुई पस्त- बिहार की राजधानी पटना और भागलपुर समेत कई जिलों में लॉकडाउन

New Delhi : बिहार में लगातार कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ रही है, जिसे देखते हुए भागलपुर, पटना, किशनगंज और नवादा को फिर से लॉकडाउन कर दिया गया है। राज्य सरकार ने पटना में 10 से 16 जुलाई तक, भागलपुर में 13 जुलाई तक और किशनगंज में 72 घंटे का लॉकडाउन किया है। इस दौरान आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सभी सरकारी व निजी कार्यालय, धार्मिक स्थान आदि बंद रहेंगे। जिला प्रशासन ने इसके लिये आवश्यक दिशा निर्देश जारी कर दिये हैं।

लॉकडाउन के दौरान जिले में सुबह 6 से 10 बजे तक और शाम में 4 से 7 बजे तक अनिवार्य सेवा की दुकानें खुलेंगी। इसमें राशन, दूध, दवा जैसी जरूरी दुकानें शामिल हैं। बैंक, पेट्रोल पंप, प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया, ई-कॉमर्स से होम डिलीवरी को छूट दी गई है। जरूरी सामान की आपूर्ति को लेकर होम डिलीवरी पर जोर दिया गया है।
वहीं सभी पूजा स्थलों को भी आमलोगों के लिए बंद करने के निर्देश दिये गये हैं। इसके अलावा कंटेनमेंट जोन के बाहर के सारी गतिविधियां अनलॉक 2 के लिये जारी दिशा निर्देश के अनुसार ही चलेंगे। राजधानी पटना में बुधवार को रिकॉर्ड 237 कोरोना पॉजिटिव मरीजों की पहचान की गई। वहीं फतुहा के डीएसपी मनीष कुमार भी कोरोना संक्रमित पाये गये जिसके बाद पूरे पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया।
कोरोना संक्रमण पटना में तेजी से बढ़ते जा रहा है। इसे देखते हुए जिला प्रशासन ने आइसोलेशन सेंटर में बेड बढ़ाने का निर्णय लिया है। अगले तीन दिनों में आइसोलेशन सेंटर में दो हजार बढ़ाये जायेंगे। अधिकारियों को आइसोलेशन सेंटर पर खानपान एवं साफ-सफाई की व्यवस्था करने तथा निगरानी के लिये टीम गठित करने को कहा गया है। डीएम ने कहा है – जरूरत पड़े तो आइसोलेशन सेंटर पर शिक्षकों की भी तैनाती की जाये।
वर्तमान समय में चार प्रकार के व्यक्तियों का टेस्ट हो रहा है। इसमें पहला मरीज के कांटेक्ट में आने वाले लोग शामिल हैं। दूसरा कंटेनमेंट जोन में रहने वाले लोग, तीसरा हेल्थ वर्कर तथा चौथा जिनमें बीमारी के लक्षण दिख रहे हैं। संपर्क चेन के लिये पर्याप्त संख्या में कर्मियों को सहभागी एवं सक्रिय बनाने का निर्देश दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eleven − 8 =