कांग्रेस की पायलट से अपील- हरियाणा सरकार की मेजबानी छोड़ो, परिवार में लौट आओ

New Delhi : राजस्थान में जारी राजनीतिक उठापटक के बीच कांग्रेस को अभी भी उम्मीद है कि सचिन पायलट लौट आएंगे। लगातार तीसरे दिन पार्टी ने पायलट से वापस आने की अपील की। जयपुर गए ऑब्जर्वर रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि बीते दिनों में हमने सचिन पायलट को अपनी बात रखने को कहा। कल भारी मन से उनके खिलाफ कार्रवाई की। सुरजेवाला ने कहा – आज मीडिया के जरिये उनके बयान की जानकारी मिली। वे कह रहे हैं कि भाजपा में नहीं जायेंगे। हम कहना चाहते हैं कि वे हरियाणा सरकार की मेजबानी छोड़ें। परिवार में लौट आयें। साथ में बैठें और अपनी बात रखें।

इस बीच, खबरें आईं कि राहुल गांधी ने पायलट के जाने पर तीखी प्रतिक्रिया दी है। न्यूज एजेंसी ने सूत्रों के हवाले से बताया- अगर कोई पार्टी छोड़कर जाना चाहता है तो वो जाएगा ही। सूत्रों के मुताबिक, एनएसयूआई की मीटिंग में राहुल ने यह बात कही। हालांकि, मीडिया में जैसे ही राहुल का यह बयान सुर्खियां बना, कांग्रेस ने तुरंत सफाई दी।

वरिष्ठ कांग्रेसी वीरप्पा मोइली ने कहा कि यह अच्छी बात है कि पायलट भाजपा में नहीं जा रहे हैं। वो पार्टी के भीतर अपनी बात रखें। कोई जल्दी नहीं है। उन्हें सीएम नहीं बनाया जा सकता, क्योंकि ऑब्जर्वर्स का कहना है कि एमपी हो या राजस्थान जिसे विधायकों का समर्थन होगा वही सीएम बनेगा।
राजस्थान के एमएलए मानेसर को होटल में रुकने पर हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा- इसमें हमारा कोई हाथ नहीं है। हरियाणा के होटल सभी के लिये खुले हैं। कोई भी यहां रह सकता है। विधानसभा स्पीकर सीपी जोशी ने बुधवार को कांग्रेस की शिकायत पर पायलट समेत 19 असंतुष्ट विधायकों को नोटिस जारी किया है। उनसे शुक्रवार तक जवाब मांगा गया है। राजस्थान कांग्रेस के प्रभारी अविनाश पांडे ने कहा कि पायलट समेत 19 मेंबर्स अगर दो दिन में जवाब नहीं देते हैं तो यह माना जाएगा कि वे कांग्रेस विधायक दल से अपनी सदस्यता छोड़ रहे हैं।

इन विधायकों को नोटिस भेजा गया – सचिन पायलट, रमेश मीणा, इंद्राज गुर्जर, गजराज खटाना, राकेश पारीक, मुरारी मीणा, पीआर. मीणा, सुरेश मोदी, भंवर लाल शर्मा, वेदप्रकाश सोलंकी, मुकेश भाकर, रामनिवास गावड़िया, हरीश मीणा, बृजेन्द्र ओला, हेमाराम चौधरी, विश्वेन्द्र सिंह, अमर सिंह, दीपेंद्र सिंह और गजेंद्र शक्तावत।
गहलोत ने कहा- कोई आदमी अच्छी अंग्रेजी बोलता है। अच्छा दिखता है और अच्छी लाइफ स्टाइल है, इससे सब कुछ नहीं होता। आपकी नीयत क्या है, यह सबसे महत्वपूर्ण है। देश के लिये आपके दिल में क्या है, आपकी विचारधारा, नीतियां और प्रतिबद्धता क्या है, सब पर विचार किया जाता है। थाली में रखी सोने की छुरी पेट में खाने के लिये नहीं होती। हमारी पीढ़ी के नेताओं ने जमकर मेहनत की, इसीलिये हम 40 साल बाद जिंदा हैं। पार्टी ने जिन्हें सब कुछ दिया, वो पार्टी के खिलाफ साजिश में शामिल हैं। हमारे कुछ साथी भाजपा के जाल में फंसे हैं। विधायकों की खरीद फरोख्त की कोशिश की गई।

गहलोत ने कहा- मजबूत सरकार बनी थी। जनता ने जनादेश दिया था। कोरोना आया, हमने जमकर जनता की सेवा की। हमारे कुछ साथी भाजपा की शह पर अति महत्वाकांक्षी बनकर हॉर्स ट्रेडिंग कर रहे हैं। हॉर्स ट्रेडिंग के प्रूफ हमारे पास हैं। 20 करोड़ का सौदा किया जा रहा था, SOG ने नोटिस दे दिया। अब जो मानेसर और गुडगांव का खेल हुआ है, उस समय होने वाला था। साजिश में जो शामिल थे, वो सफाई दे रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ninety nine − = eighty nine