CM Yogi ने कहा – तबलीगी जमातियों ने संक्रमण के मामले छिपाये, इसलिये संक्रमण तेजी से फैला

New Delhi : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक निजी चैनल से बातचीत में कहा कि तबलीगी जमात के लोगों ने संक्रमण के मामले छिपाये, जिसकी वजह से यह तेजी से फैला। उन्होंने कहा – तबलीगी जमात का काम आश्चर्यचकित करने वाला था। बीमारी होना कोई अपराध नहीं, लेकिन उसे छिपाने का काम किया गया। किसी को बीमारी हो गई, कोई बात नहीं। उसका इलाज किया जायेगा। लेकिन आप इसे छिपाकर उससे संक्रमण फैलाने का काम करें तो यह बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। उन्होंने कहा – मुझे यह कहते हुए संकोच नहीं है कि तबलीग के इस रवैये के कारण संक्रमण तेजी से फैला। उत्तर प्रदेश में बड़ी तादाद में पुलिस ने जमात के लोगों को पकड़ा और क्वारैंटाइन किया है।

तबलीगी जमातियों को अस्पताल ले जाने की तैयारी दिल्ली में। प्रतीकात्मक तस्वीर

सीएम ने कहा – तबलीगी जमात के लोगों ने कई जगह पर स्वास्थ्यकर्मियों के साथ गलत व्यवहार किया। गाजियाबाद में नर्सों के साथ अभद्रता की, जो काफी दुर्भाग्य की बात है। ऐसे ही वाराणसी और कानपुर में भी तबलीगी जमात के लोगों ने अभद्रता की, जिसके लिए पहले उन्हें समझाने का काम किया गया, लेकिन वे नहीं माने तब कठोर कदम उठाये गये हैं।
उन्होंने कहा – सरकार प्रदेश में रेड जोन में किसी तरह की कोई छूट नहीं देगी। उन्होंने कहा कि हम केंद्र की गाइडलाइन का पूरा पालन करेंगे। रेड जोन में कोई छूट नहीं देंगे जबकि ऑरेंज और ग्रीन जोन में कुछ छूट देंगे। ग्रामीण इलाकों में हम सब्जी और किराने की दुकानों को पहले से छूट दे चुके हैं । ऐसे में, हमारी कोशिश है कि ऑरेंज जॉन को ग्रीन में और रेड जोन को पहले ऑरेंज और फिर ग्रीन में बदलकर प्रदेश को कोरोना से मुक्त करें।
लॉकडाउन से राजस्व पर पड़ने वाले असर के सवाल पर सीएम योगी ने बताया – यूपी को एक महीने में 17 से 18 हजार करोड़ रुपये राजस्व प्राप्त होता था लेकिन इस बार एक हजार करोड़ ही राजस्व आया है। फिलहाल हमारे लिए राजस्व से ज्यादा चिंता अपने नागरिकों की रक्षा करने की है। यह ज्यादा महत्वपूर्ण है।

गिरफ्तार विदेशी तबलीगी जमाती, छिपे हुये थे

सीएम ने कहा – प्रदेश वापस आने वाले सभी लोगों का मेडिकल चेकअप और क्वारांटीन में भेजने का काम किया जाएगा। उन्होंने कहा कि श्रमिकों को वापस लाने का काम किया जाएगा। जिनमें कोई लक्षण नहीं हैं, उन्हें हम तुरंत लेने को तैयार हैं। उन्होंने मजदूरों से अपील की कि पैदल न चलें, जहां है, वहीं रहें। मैं आश्वासन देता हूं कि उन्हें कोई तकलीफ नहीं होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

sixty one − = fifty seven