CM योगी का ऐलान- नोएडा में बसेगा सुंदर बॉलीवुड, कंगना ने कहा- शानदार फैसला, एकीकृत इंडस्ट्री बसाये सरकार

New Delhi : बॉलीवुड में चल रहे तमाम विवादों के बीच नये बॉलीवुड बसाने की पहल भी शुरू हो गई है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अफसरों को नोएडा या ग्रेटर नोएडा प्राधिकार क्षेत्र में फिल्म उद्योग बसाने के लिये जगह खोजने का निर्देश दिया है। उन्होंने प्राथमिकता के आधार पर इस दिशा में काम करने का निर्देश दिया है। सीएम योगी के इस फैसले का चहुंओर स्वागत हो रहा है। बॉलीवुड क्वीन कंगना रनौत ने उनके इस फैसले का स्वागत करते हुये कहा- मैं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के इस फैसले का स्वागत करती हूं। अगर हमें देश में फिल्मों को बढ़ावा देना है तो हमे एक एकीकृत फिल्म इंडस्ट्री की जरूरत है जिसमें कई फिल्म इंडस्ट्री हों।

कंगना रनौत ने एक के बाद एक कई ट‍्वीट किये और कहा कि फिल्म इंडस्ट्री को बचाने के लिये हर स्तर पर प्रयास करने की जरूरत है। उन्होंने ट‍्वीट किया – लोगों की यह गलतफहमी है कि भारत में हिंदी फिल्म इंडस्ट्री सबसे बड़ी है। जबकि सच्चाई यह है कि तेलगु फिल्म इंडस्ट्री सबसे बड़ी है। अब तो कई हिंदी फिल्में हैदराबाद स्थित रामोजी राव स्टूडियो में शूट होते हैं। लेकिन अपने ही देश की रीजनल भाषाओं में बननेवाली फिल्मों को पैन इंडिया रिलीज नहीं होने दिया जाता क्योंकि थियेटर्स पर हिंदी फिल्म इंडस्ट्री का कब्जा है। यही नहीं हालीवुड फिल्मों को हिंदी फिल्मों की तरह ही पैन इंडिया रिलीज मिलता है क्योंकि मीडिया के जरिये यह परसेप्शन बनाया गया है कि हालीवुड की फिल्में उत्कृष्ट होती हैं। इसलिये जरूरी है कि एक एकीकृत इंडस्ट्री हो।
इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के ट‍्विटर हैंडल से नोएडा या ग्रेटर नोएडा में बॉलीवुड के लिये जगह खोजने की बात कही गई। योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि नोएडा में विश्वस्तरीय फिल्म इंडस्ट्री का निर्माण किया जायेगा।

दो दिन पहले ही ख्याति प्राप्त गीतकार मनोज मुंतशिर ने कहा था- बेहद आश्चर्य जनक बात है कि तमिल फिल्में तमिलनाडु में बनती हैं, तेलगु फिल्में तलंगाना में बनती हैं और हिंदी फिल्में महाराष्ट्र में। हम बिहार, झारखंड, छत्तीसगढ़, उत्तर प्रदेश से बस्ता उठाकर मुम्बई आ जाते हैं काम करने के लिये। कभी ये नहीं सोचते हैं कि हिंदी फिल्मों की मार्केट तो यूपी, बिहार, झारखंड, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, राजस्थान, दिल्ली, पंजाब, हरियाणा हैं। अब समय आ गया है कि हिंदी को उसका हक मिले। उत्तर प्रदेश में हिंदी फिल्म इंडस्ट्री स्थापित हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

26 + = thirty one