नंदन नीलेकणि का दावा, आधार की वजह से सरकार ने बचाई 58 हजार करोड़ की धोखाधड़ी

नंदन नीलेकणि का दावा, आधार की वजह से सरकार ने बचाई 58 हजार करोड़ की धोखाधड़ी

By: Rohit Solanki
October 13, 18:10
0
....

Washington:  आधार के आर्किटेक्ट इन्फोसिस के नॉन एक्जिक्यूटिव चेयरमैन नंदन नीलेकणि को आधार योजना की वजह से दुनियाभर में एक अलग पहचान मिली है। सरकार द्वारा अलग-अलग सुविधाओं में लागू की गई आधार योजना के कारण भारत सरकार के खजाने में 9 अरब डॉलर की बचत हुई है। ये खुलासा किसी और ने नहीं बल्कि खुद नंदन नीलेकणि ने किया है। नीलेकणि ने ये खुलासा वर्ल्ड बैंक के पैनल डिस्कशन में 'विकास के लिए डिजिटल इकॉनमी' पर चर्चा के दौरान कहीं। 

भारत की दूसरी सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर कंपनी इंफोसिस के नॉन एक्जिक्यूटिव चेयरमैन नंदन नीलेकणि ने कहा है कि आधार स्कीम की वजह से 9 अरब डॉलर यानि करीब 58 हजार करोड़ रुपए सरकार के बचे हैं। नीलेकणि ने कहा कि अब तक 100 करोड़ से ज्यादा लोगों को आधार से जोड़ा जा चुका है। आधार की वजह से सरकार हर योजना की अच्छे से निगरानी कर पा रही है।

 नीलेकणि ने कहा कि इस सिस्टम को UPA सरकार के कार्यकाल में लॉन्च किया गया था। उसके बाद मौजूदा PM नरेंद्र मोदी और वित्त मंत्री अरुण जेटली ने काफी उत्साह के साथ आधार को अपना समर्थन दिया। उन्होंने कहा कि सही डिजिटल इन्फ्रास्ट्रक्चर की मदद से ही विकासशील देशों के लिए आगे बढ़ना आसान है। आधार के सिस्टम पर 100 करोड़ से ज्यादा लोग रजिस्टर कर चुके हैं। 

उन्होंने कहा कि आधार ने सरकार को 58 हजार करोड़ रुपये की धोखाधड़ी और गैरजरूरी खर्चे से बचाया है, क्योंकि आधार की वजह से डुप्लिकेट और फर्जी लाभार्थियों को अलग किया जा सका है। करीब 50 करोड़ लोग हैं, जिन्होंने अपनी ID सीधे बैंक खातों से लिंक करा ली है। ऐसे में सरकार ने एक ही समय पर लाभार्थियों के बैंक खातों में कई हजार करोड़ रुपये ट्रांसफर किए हैं। इसके साथ ही ऐसे कई और फायदे भी हुए हैं। उन्होंने कहा, मेरा इस बात में पूरा भरोसा है कि अगर आप सही डिजिटल इन्फ्रास्ट्रक्चर तैयार कर सकते हैं तो आप सही दिशा में आगे भी बढ़ सकते हैं।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।