आलू की कम कीमतों से खफा किसानों ने किया प्रदर्शन, तो क्या योगी सरकार भी किसान विरोधी है?

आलू की कम कीमतों से खफा किसानों ने किया प्रदर्शन, तो क्या योगी सरकार भी किसान विरोधी है?

By: Naina Srivastava
January 06, 15:01
0
Lucknow: यूपी के सीएम योगी आदित्य़नाथ बेशक कहते हों कि बीजेपी और उनकी सरकार किसान की हितैषी है लेकिन यह जमीनी स्तर पर सच नहीं साबित हो रही है। एक बार फिर से किसानों ने आलू के ठीक दाम न मिलने की वजह से सरकार के खिलाप प्रदर्शन किया।

किसानों द्वारा फैलाए गए आलू के बाद सड़क साफ करता सफाई कर्मचारी

शनिवार को भारी संख्या में किसान विधानसभा का घेराव करने पहुंचे थे। वह आलू की कीमतों की कमी को लेकर प्रदर्शन कर रहे थे। सरकार ने किसानों से 4 रुपए प्रतिकिलो आलू खरीदने का फैसला लिया है लेकिन किसान इससे खुश नहीं हैं। वह 10 रुपए प्रतिकिलों आलू के दाम देने की मांग कर रहे थे।

इसे भी पढ़ें-

लालू परिवार पर एक और आफत, ED ने मीसा भारती के खिलाफ दाखिल ही दूसरी चार्जशीट

किसानों  का कहना था कि एक किलो आलू में कम से कम 6-7 रुपए की लागत ही आ जाती है। उसके बाद भी सभी आलू स्वस्थ नहीं होते ऐसे में छोटे आलूओं को कम दाम में बेचना पड़ता है। किसान पहले से ही घाटे में रहता है। अगर 10 रुपए प्रतिकिलो सरकार किसानों से आलू खरीदती है तो जरूर किसान को चार पैसे बचेंगे।

इसे भी पढ़ें-

बच्चियों-महिलाओं का पीछा करनेवालों सावधान, यम बनकर पाताल से भी ढूंढ निकालूंगा: IG नवनीत सिकेरा

आलू की कम कीमतें लगाने पर किसानों ने प्रदर्शन किया

किसानों ने इस दौरान कई बोरे आलू यूपी विधानसभा के आगे फेंककर प्रदर्शन किया। उन्होंने योगी सरकार के आलू के दाम बढ़ाकर 10 रुपए प्रतिकिलो की मांग की है।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।