भाईचारे का वायरस : रमजान से पहले 225 मुस्लिम भाइयों को विशेष विमान से घर तक पहुंचाया

New Delhi : कोरोना आपदा और लॉकडाउन के बीच जब पूरा देश थम सा गया है तो मोदी सरकार ने कुछ ऐसा किया है जिसकी वजह से सरकार की खूब वाहवाही हो रही है। सरकार ने ईरान से रेस्क्यू किये गये सभी भारतीय मुसलमानों को रमजान से पहले उनको उनके घर तक पहुंचा दिया। अब सभी लोग अपने अपने घर में क्वारैंटीन रहेंगे। लेकिन इस क्वारैंटीन के बाद भी रमजान में तो घर में रहेंगे ही। ईरान में फंसे भारतीयों को रेस्क्यू करने के बाद इनमें से कुछ लोगों को जोधपुर के आर्मी सेंटर और कुछ को जैसलमेर में क्वारैंटाइन किया गया था। क्वारैंटाइन पीरियड पूरा करने के बाद भारतीय वायुसेना ने सभी को रमजान से पहले लद्दाख पहुंचा दिया है, हालांकि वहां पर भी सभी होम क्वारंटाइन रहेंगे और स्वास्थ्य विभाग की टीम उनकी जांच करेगी।

क्वारैंटाइन पीरियड पूरा करने के बाद सभी लोगों को वायुसेना के विशेष विमान से लेह पहुंचाया गया। वहीं इससे पहले मंगलवार को जैसलमेर में क्वारंटाइन पीरियड पूरा कर चुके 180 लोगों को जम्मू-कश्मीर पहुंचाया गया था। इसमें से ज्यादातर लोग लद्दाख और कारगिल के रहने वाले थे। लद्दाख के सांसद जमयांग सेरिंग नामग्याल ने इस बारे में ट्विटर कर जानकारी दी। उन्होंने बताया कि लद्दाख पहुंचे सभी लोगों की एयरपोर्ट पर जांच की गई। अब इन्हें लद्दाख में क्वारैंटाइन किया जाएगा। इसके साथ ही उन्होंने ईरान से भारतीय नागरिकों को निकालने पर पीएम मोदी को धन्यवाद कहा।

ईरान कोरोना से बुरी तरह प्रभावित है। वहां अब तक 85 हजार से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं। कोरोना के कहर को देखते हुए ईरान सरकार ने भारतीय नागरिकों की मदद करने से इनकार कर दिया था, जिसके बाद भारत सरकार ने सभी को ईरान से रेस्क्यू किया था। भारत वापस आने के बाद सभी को भारतीय सेना के अलग-अलग सेंटर्स में क्वारंटाइन किया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eighty one + = 88