मोदी सरकार का ये नया कानून देगा नोटबंदी से भी बड़ा झटका, बैंक से भी नहीं निकाल पाएंगे अपना पैसा

मोदी सरकार का ये नया कानून देगा नोटबंदी से भी बड़ा झटका, बैंक से भी नहीं निकाल पाएंगे अपना पैसा

By: Sachin
December 06, 22:12
0
...

New Delhi: वित्तीय जगत पर बड़ा प्रभाव डालने के लिए मोदी सरकार ने कई बड़े फैसले लिए हैं। इसमें नोटबंदी से काले धन पर रोक लगाना, GST लागू करना और बैंकों का एनपीए संकट दूर करने के लिए सरकारी खजाने से लाखों करोड़ का भुगतान करना शामिल है।

वित्तीय जगत पर बड़ा प्रभाव डालने के लिए मोदी सरकार ने कई बड़े फैसले लिए हैं।

इसी क्रम में सरकार बैंकिंग व्यवस्था में एक और कानून बनाने जा रही है जिसका असर न सिर्फ बैंकों पर पड़ेगा बल्कि बैंक में बचत खाते में पैसा रखने वाला एक-एक ग्राहक इस कानून के दायरे में रहेगा।

इसे भी पढ़ें:-

दिल्ली के क्रिकेट फैंस को बड़ा झटका, प्रदूषण से निपटने के लिए BCCI बैन करेगा कोटल

इसी क्रम में सरकार बैंकिंग व्यवस्था में एक और कानून बनाने जा रही है

क्या है यह बिल

केंद्रीय कैबिनेट ने अभी हाल ही में फाइनेंशियल रेजोल्यूशन एंड डिपॉजिट इन्श्योरेंस बिल (FRDI) के नए संशोधित ड्रॉफ्ट को पास कर दिया है और इसे संसद में पेश करने की तैयारी है। दोनों सदनों में बहुमत होने के कारण यह बिल आसानी से पास होने की उम्मीद है। इससे पहले इसे मानसून सत्र में पेश किया गया था, लेकिन तब ज्वाइंट पार्लियामेंट्री कमेटी के पास नए सुझावों के लिए भेज दिया गया था।

फाइनेंशियल रेजोल्यूशन एंड डिपॉजिट इन्श्योरेंस बिल (FRDI) के नए संशोधित ड्रॉफ्ट को पास कर दिया है

सरकार तय करेगी कितना पैसा निकाल सकेंगे आप

मौजूदा समय में अलग-अलग बैंकों में जमा आपके पैसे की गारंटी इसी कानून से मिलती है। इस कानून में एक अहम प्रावधान है कि अगर किसी बैंक को दिवालिया घोषित किया जाता है तो बैंक के ग्राहकों का एक लाख रुपए तक डिपॉजिट बैंक को वापस करना होगा। अगर यह बिल पास हो गया तो सरकार एक नया रेजोल्यूशन कॉर्पोरेशन बनाएगी। इस कॉर्पोरेशन के बनने के बाद पुराना कानून पूरी तरह से निष्प्रभावी हो जाएगा, जिसके चलते अभी तक बैंकों को सरकार की तरफ से गारंटी मिली हुई थी। 

इसे भी पढ़ें:-

स्टार फुटबॉलर Lionel Messi के स्टैच्यू के साथ एक बार फिर हुई तोड़-फोड़, Photos हुईं वायरल

सरकार तय करेगी कितना पैसा निकाल सकेंगे आप

नए कानून के मुताबिक बैंकों के दिवालिया होने की स्थिति में आम लोगों का एक लाख रुपए से अधिक पैसे का इस्तेमाल बैंक को फिर से खड़ा करने में लगाएगी। इतना ही नहीं आप बैंक में पड़े अपने पैसे को कितना निकाल सकते हैं यह भी सरकार ही तय करेगी। अगर सरकार को लगा कि आपकी एक लाख से ऊपर जमा पूरी राशि को बैंकों का एनपीए कम करने में इस्तेमाल हो सकता है, तो फिर आप अपने खाते से राशि को कम से कम पांच साल के लिए निकाल नहीं पाएंगे।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।