सुषमा ने सऊदी में फंसे भारतीय लड़के को छुड़ाया, बोला- वहां जानवरों की तरह करना पड़ता था काम

सुषमा ने सऊदी में फंसे भारतीय लड़के को छुड़ाया, बोला- वहां जानवरों की तरह करना पड़ता था काम

By: Aryan Paul
September 10, 08:09
0
New Delhi:

सऊदी अरेबिया में दूसरे देशों खासकर दक्षिण एशियाई मूल के लोगों से बंधक बनवाकर काम करवाना आम हो चला है। पिछले तीन साल के अंदर ही ऐसे कई मामले सामने आ चुके हैं, जब विदेश मंत्रालय उन्हें छुड़ाकर भारत लाया गया है। ऐसा ही एक मामला त्रिपुरा मूल के एक व्यक्ति का है, जिसे सऊदी अरेबिया से इंडियन मिशन के तहत भारत लाया गया। गोपाल दास ने आरोप लगाया कि वहां उससे बंधक बनवाकर काम कराया जा रहा था । गोपाल दास शुक्रवार को भारत पहुंचा है।

बता दें कि गोपाल दास ने बताया कि वह करीब 6 महीने पहले सऊदी अरेबिया गया था। वहां वह ड्राइवर का काम कर रहा था, फिर कुछ दिन बाद उससे वहां ड्राइविंग के अलावा खेती और घर के काम भी कराए जाने लगे। काम के लिए मना करने पर उसके साथ कई बार मारपीट भी की गई। उसे कई महीनों से सैलरी भी नहीं दी गई है।

गोपाल ने बताया कि फिर एक दिन अचानक ही उसे जॉब से निकाल दिया गया और सैलरी भी नहीं दी गई, तो मजबूरन वह एक गेराज में रहने लगा। उसने फोन कर अपनी पत्नी को सारी बात बताई। उसकी पत्नी बबीता ने अपने पड़ोसी से मदद मांगी, उसका पड़ोसी एक सोशल मीडिया हैंडलर था। पड़ोसी ने गोपाल से अपना एक वीडियो बनाकर भेजने को कहा- जिसमें उसने बताया कि उसे यहां सैलरी मांगने पर मारा पीटा जा रहा है।

गोपाल ने बताया कि जब वह एंबेसी में मदद के लिए गया तो वहां कहां गया कि यह आम है, तुम अकेले नहीं हो, सैलरी भूल जाओ और किसी तरह घर जाने की तैयारी कर लो। उसका वीडियो सोशल एक्टिविस्ट रसल सिन्हा ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को टैग कर ट्विटर पर पोस्ट किया, जिसके बाद विदेश मंत्री के दखल से उसे भारत लाया जा सका ।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

comments
No Comments