आदित्य ठाकरे बोले – सुशांत मामले में सड़कछाप राजनीति हो रही है, जदयू- चोर की दाढ़ी में तिनका

New Delhi : शिवसेना के राजकुंवर और महाराष्ट्र सरकार के कैबिनेट मंत्री आदित्य ठाकरे ने मंगलवार 4 अगस्त को सुशांत सिंह राजपूत प्रकरण में पहली बार मुंह खोलते हुये कहा – इस मामले में अब सड़क छाप राजनीति हो रही है। आदित्य ठाकरे के इस बयान के जवाब में जनता दल यूनाइटेड ने कहा – चोर की दाढ़ी में तिनका। इस बयान से थोड़ी देर पहले ही भारतीय जनता पार्टी के नेता नारायण राणे ने आदित्य ठाकरे पर सांकेतिक इशारा करते हुये कहा कि सुशांत मामले में एक मंत्री शामिल है इसलिये इस मामले को दबाने का हरसंभव प्रयास कर रही है मुम्बई पुलिस।

भाजपा नेता नारायण राणे ने आज खुलकर शिवसेना पर वार किया। उन्होंने कहा- पहले तो सुशांत सिंह राजपूत केस में मुम्बई पुलिस को कुछ भी करने नहीं दिया गया क्योंकि इस केस में एक मंत्री का हाथ है। उसके बाद जब बिहार पुलिस ने जांच शुरू की तो उसके बाद जो हुआ और हो रहा है उसको पूरा देश देख देख रहा है। इस मामले का एकमात्र हल है सीबीआई की जांच होना। अगर इस केस में न्याय नहीं हुआ तो मुम्बई में आम लोगों का, सीधे सादे लोगों का जीना हराम हो जायेगा। यह ठीक नहीं होगा। हमारी सोसाइटी इसको बर्दाश्त नहीं कर सकती।
राणे ने कहा- उनलोगों की आदत रही है। पहले भी कई बार ऐसा किया है। लोगों की जान ले लेते हैं और पुलिस की सहायता से लीपापोती कर दी जाती है। ऐसा कई बार हुआ। लेकिन अब बहुत हुआ।
राणे के इस बयान के बाद महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बेटे केंद्रीय मंत्री आदित्य ठाकरे ने ट‍्वीट किया – सड़कछाप राजनीति हो रही है। घटिया राजनीति हो रही है। रिया से मेरी पहचान है लेकिन यह गुनाह नहीं है। उन्होंने एक पेज का बयान जारी कर ट‍्वीट किया है। बयान मराठी में है। इसके बाद जनता दल यूनाइटेड के अजय आलोक ने कहा- इससे फिर एकबार साबित हो गया है कि चोर की दाढ़ी में तिनका।
इधर बिहार सरकार ने सुशांत प्रकरण की जांच सीबीआई से कराने की अनुशंसा कर दी है। सुशांत के पिता केके सिंह ने आज सुबह नीतीश कुमार से बात कर उनसे सीबीआई जांच की अनुशंसा का अनुरोध किया था।

लोक जनशक्ति पार्टी नेता चिराग पासवान ने भी आज मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से फोन पर बात की। सुशांत सिंह राजपूत मामले में सीबीआई जांच का अनुरोध किया। लगभग 10 मिनट तक उन्होंने मुख्यमंत्री से बात की। लंबी अवधि के बाद चिराग की मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से बातचीत हुई है। इस आशय का एक पत्र भी चिराग ने मुख्यमंत्री को लिखा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

forty three − thirty seven =